सिरसा रोड के दिन बहुरने से पहले ही काम पर बंदी ने लगा दिया ब्रेक

सिरसा रोड के दिन बहुरने से पहले ही काम पर बंदी ने ब्रेक लगा दिया है। शनिवार प्रशासनिक अधिकारियों की देखरेख में नाले की जेसीबी से खोदाई होने वाली थी, लेकिन काम शुरू नहीं हो सका। कोरोना के कहर ने काम अधर में लटका दिया। लोगों को उम्मीद है कि बंदी के बाद फिर से काम शुरू हो जाएगा।

DJHçâÚUâæ ÚUôÇUÐ – Áæ»ÚU‡æÐ

सिरसा खेर रोड पर विजय नगर, श्रीरामनगर कॉलोनी, प्रोफेसर कॉलोनी, महर्षि नगर आदि में पानी के निकास की समस्या है। इससे यह रोड नाले में बदल गई। क्षेत्रीय लोगों की मांग पर राज्यमंत्री महेश चंद्र गुप्ता ने डेढ़ साल पहले नाला के प्रस्ताव को मंजूरी दिलाई। काम कार्यदायी संस्था जल निगम ने किया। उन्होंने छह माह में नाला बना दिया, जो कि मानकों पर खरा नहीं उतरा। जलभराव की समस्या ऐसे ही रहने पर लोगों ने इसकी शिकायत अफसरों से की। इस बीच जल निगम के अधिकारी फाइनल किस्त लेने कलेक्ट्रेट पहुंचे। सिटी मजिस्ट्रेट अमित कुमार ने डीएम कुमार प्रशांत से शिकायत की। डीएम ने किस्त पर रोक लगाकर सिटी मजिस्ट्रेट को जांच सौंपी। जांच में निकला कि नाले की जगह पाइप डालकर छोटी सी नाली बना दी गई थी। डीएम ने कार्यदायी संस्था जल निगम पर रिकवरी और नाले का फिर से निर्माण शुरू कराए जाने के आदेश दिए थे। शनिवार से काम शुरू होना था। प्रशासनिक अधिकारी लगातार क्षेत्र का भ्रमण कर रहे थे। लेकिन बंदी की वजह से काम नहीं हो सका। इससे क्षेत्रीय लोग आशंकित है कि आने वाले दिनों में काम शुरू होगा या नहीं। वर्जन::

बंदी की वजह काम प्रभावित हुआ है। जल्द ही काम शुरू किया जाएगा, जिससे लोगों को जलभराव की समस्या से समाधान मिलेगा और नाला बनकर तैयार हो जाएगा।

=>
LIVE TV