सरोजनी नगर मार्केट के दुकानदार भारी भरकम चालान से हो रहे परेशान, पढ़े पूरी खबर

सरोजनी नगर मार्केट के दुकानदार भारी भरकम चालान से परेशान हो रहे हैं। उनका कहना है कि करीब पांच माह के सन्नाटे के बाद बड़ी मुश्किल मार्केट में धीरे-धीरे रौनक लौट रही थी लेकिन विभिन्न एजेंसियों द्वारा किए जाने वाले चालान ने इस रौनक पर फिर से ग्रहण लगा दिया है। एनडीएमसी, जिला प्रशासन और दिल्ली पुलिस की ओर से काटे जा रहे चालान से परेशान दुकानदारों का कहना है कि दिन भर में वे जितना कमाते हैं उससे ज्यादा का विभिन्न एजेंसियां चालान काट देती हैं। दुकानदारों ने कहा कि यही हाल रहा तो उन्हें मजबूर होकर अपनी दुकानें स्थायी रूप से बंद करनी पड़ेंगी। उनका आरोप है कि चालान के दौरान अधिकारी दुकान सील करने तक की धमकी देते हैं। ग्राहकों की गलती का खामियाजा भी दुकानदारों को भुगतना पड़ रहा है।

मार्केट के दुकानदारों ने बताया कि लंबे इंतजार व तमाम ऑफर देने के बाद मार्केट में कुछ ग्राहक आने शुरू हुए। लेकिन पुलिस, प्रशासन व एनडीएमसी अधिकारियों द्वारा काटे जा रहे चालान के कारण दुकान चलाना मुश्किल हो रहा है। उच्च अधिकारियों से शिकायत पर भी कोई सुनवाई नहीं हुई। शनिवार को एसडीएम वसंत विहार ने कुछ दुकानदारों के तीन हजार व छह हजार रुपये तक का चालान किया है। इतनी तो दुकानदारों की दिन भर की कमाई भी नहीं हुई थी।

वहीं, एसडीएम डॉ. नितिन शाक्य ने बताया कि सिर्फ दो दुकानदारों का ज्यादा राशि का चालान किया गया है। उन्होंने बताया कि दुकान पर जितने भी लोग मौजूद होंगे, मास्क न पहनने पर प्रति व्यक्ति 500 रुपये चालान कटता है। शारीरिक दूरी का पालन न करने पर इसका भी 500 रुपये प्रति व्यक्ति चालान कटता है।

इस पर है दुकानदारों की आपत्ति

  1. दुकानदार या कोई स्टाफ खाना खाने या पानी पीने के लिए मास्क हटाता तो एजेंसियां तुरंत फोटो खींचकर चालान काट देती हैं
  2. बिना मास्क पहने कोई ग्राहक दुकान के बाहर खड़ा है तो चालान दुकानदार का काट देते हैं
  3. किसी एक ही परिवार के दो-तीन लोग अगर दुकान के बाहर खड़े होकर सामान देख रहे हैं तो भी चालान दुकानदार का काट देते हैं।
=>
LIVE TV