शिष्टाचार : जीत के बाद संसदीय दल की बैठक में मोदी ने छुए इन तीन नेताओं के पैर !…

लोकसभा चुनाव-2019 में प्रचंड जीत से गदगद बीजेपी पॉलिटिकल संस्कार अपना रही है. एनडीए की संसदीय दल की बैठक में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने पार्टी के वरिष्ठ नेता लाल कृष्ण आडवाणी,  मुरली मनोहर जोशी और शिरोमणि अकाली दल के नेता प्रकाश सिंह बादल के पैर छूए और आशीर्वाद लिया.

राजनीतिक शिष्टाचार निभाने की कड़ी में शनिवार को दिल्ली बीजेपी अध्यक्ष मनोज तिवारी भी कांग्रेस की वरिष्ठ नेता शीला दीक्षित से आशीर्वाद लेने पहुंचे थे.

23 मई को लोकसभा चुनाव-2019 में प्रचंड जीत हासिल करने के बाद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और भारतीय जनता पार्टी के अध्यक्ष अमित शाह ने पार्टी के वरिष्ठ नेता लालकृष्ण आडवाणी से मुलाकात की थी.

इस दौरान भी पीएम मोदी ने आडवाणी से जीत का आशीर्वाद लिया था. इस मुलाकात के बाद मोदी ने ट्वीट में लिखा था ‘आज आडवाणी जी से मुलाकात की.

भारतीय जनता पार्टी ने आज जो भी सफलता हासिल की है, वह उन जैसे बड़े नेताओं की वजह है जिन्होंने दशकों तक तपस्या कर पार्टी को खड़ा किया.’ इससे पहले मोदी ने वाराणसी में नामांकन दाखिल करने से पहले शिरोमणी अकाली दल के नेता प्रकाश सिंह बादल का चरण स्पर्श किया था.

 

हिम्मत : बेटी के अंतिम संस्कार के बाद ये पाकिस्तानी खिलाड़ी हुआ वर्ल्ड कप के लिए रवाना !

 

मां से जीत का आशीर्वाद लेने गुजरात जाएंगे मोदी

बता दें कि लोकसभा चुनाव में एनडीए को ऐतिहासिक बहुमत मिला है. नरेंद्र मोदी एक बार फिर प्रधानमंत्री पद की शपथ लेंगे. वह 30 मई को शपथ ले सकते हैं. शपथ से पहले मोदी अपने संसदीय क्षेत्र वाराणसी जाएंगे, लेकिन उससे पहले वह अपने गृह राज्य गुजरात जाएंगे.

यहां मोदी मां से जीत का आशीर्वाद लेने भी जाएंगे. इससे पहले शुक्रवार को पीएम नरेंद्र मोदी ने राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद से मुलाकात की और अपना इस्तीफा सौंपा था. इस इस्तीफे को राष्ट्रपति कोविंद ने मंजूर कर लिया और लोकसभा को भंग कर दिया.

 

मनोज तिवारी शीला दीक्षित से मिलने पहुंचे

दिल्ली में बीजेपी के क्लीन स्पीप के बाद राजनीतिक शिष्टाचार निभाते हुए दिल्ली बीजेपी अध्यक्ष मनोज तिवारी कांग्रेस की सीनियर लीडर शीला दीक्षित से मिलने पहुंचे. मनोज तिवारी इस मुलाकात में शीला दीक्षित से आशीर्वाद लिया.

मनोज तिवारी ने कहा कि वह शीला जी के स्वास्थ्य का हालचाल पूछने आए थे. उन्होंने कहा ‘शीला जी हमारी पॉलिटिकल एनेमी हैं ना कि पर्सनल, चुनाव तो आते-जाते रहते हैं.

यह लोग बड़ी लकीर खींचने वाले लोग हैं. ऐसे लोगों का आशीर्वाद रहना चाहिए.’ वहीं, शीला दीक्षित ने कहा कि हमने उनके खिलाफ कोई पॉलिटिकल हार्ड शब्द नहीं बोले हैं.

 

=>
LIVE TV