शिव की पूजा करता है राजस्थान का ‘अकबर’

l_shiva-1461735037एजेंसी/ टोंक। कहते हैं कि धर्म-मजहब किसी को दुश्मनी नहीं सिखाते। ये तो जिंदगी जीने का असल तरीका बताते हैं। राम और रहीम में सिर्फ नाम का फर्क है, दोनों एक ही हैं। इस हकीकत को साकार किया है राजस्थान के अकबर ने।

39 वर्षीय अकबर खान मस्जिद में इबादत करते हैं तो भगवान शिव के प्रति भी उनकी अटूट आस्था है। इतना ही नहीं उन्होंने अपने आराध्य भगवान शिव को नमन करने के लिए एक शिवमंदिर भी बनवा दिया। उन्होंने इसके लिए गणेशजी को निमंत्रण भेजने के साथ ही टोंक में सभी धार्मिक कार्यक्रम शास्त्रीय विधि से पूर्ण किए हैं।

शिव के प्रति अटूट आस्था

भगवान शिव के प्रति आस्था के बारे में उन्होंने बताया कि जीवन में आर्थिक व मानसिक परेशानियों से जूझते हुए भगवान शिव से प्रार्थना की। तब शिवकृपा से उनके बिगड़े काम बनने लगे तथा समस्याओं में रास्ता मिलने लगा।

इस प्रकार शिव की शक्ति पर उनका भरोसा मजबूत हो गया। अकबर सामाजिक सौहार्द पर जोर देते हैं। उनका मानना है कि अल्लाह अथवा राम में कोई अंतर नहीं है। भूतेश्वर महादेव मंदिर के नाम से प्रसिद्ध यह शिवालय शहर की ओम विहार कॉलोनी में स्थित है।

अकबर खान भगवान के प्रति आभार जताते हुए कहते हैं कि शिवजी ने उन्हें इस नेक काम के लिए चुना। क्या उन्हें मुस्लिम समाज की ओर से किसी आपत्ति का सामना करना पड़ा? इसके जवाब में वे कहते हैं- नहीं, किसी भी व्यक्ति ने मंदिर को लेकर कोई आपत्ति नहीं जताई।

=>
LIVE TV