Tuesday , May 22 2018

शिवपुराण के ये संकेत बताते हैं कैसे और कब होगी आपकी मौत

शिवपुराण में मृत्यु से जुड़ी कई रोचक बातें हैं. जीवन और मृत्यु पर किसी का बस नहीं चलता. लेकिन कुछ संकेतों से मृत्यु के बारे में पता जरूर लगाया जा सकता है. इन संकेतों को समझकर यह जाना जा सकता है कि व्यक्ति की मृत्यु कितने समय में हो सकती है.

शिवपुराण

शिव पुराण में बताए गए संकेत

जिसे चंद्रमा व सूर्य के आस-पास काला या लाल घेरा दिखाई देने लगे तो उस मनुष्य की मृत्यु लगभग 15 दिन के अंदर हो सकती है.

चंद्रमा और तारे ठीक से न दिखाई दें, उसकी मृत्यु एक महीने में हो सकती है. साथ ही जिसे सप्तर्षि तारे न दिखाई दें, उस मनुष्य की आयु भी 6 महीने के बाद हो सकती है.

जिसे ध्रुव तारा अथवा सूर्य का भी ठीक से दर्शन न हो, रात में इंद्रधनुष दिखाई दे तथा तो उसकी आयु लगभग 6 महीने ही बाकी रह गए हैं.

यदि अचानक किसी व्यक्ति का शरीर सफेद या पीला पड़ जाए और लाल निशान दिखाई दें तो उसकी मृत्यु 6 महीने के अंदर हो सकती है।

जिस व्यक्ति को अचानक नीली मक्खियां घेर लें तो हो सकता है उसकी आयु लगभग एक महीना ही बची हो.

जिस मनुष्य के सिर पर गिद्ध, कौआ या कबूतर आकर बैठ जाए या गिद्ध और कौवे घेर ले तो उस मनुष्य की मृत्यु लगभग एक महीने के अंदर हो सकती है.

जिस मनुष्य को ग्रहों (सूर्य-चन्द्रमा) के दर्शन होने पर भी दिशाओं का ज्ञान न हो तो उस मनुष्य की मृत्यु 6 महीने में हो सकती है.

जिस मनुष्य का मुंह, कान, आंख और जीभ ठीक से काम न करें, उसके जीवन के लगभग छः महीनें ही बचे हो सकते हैं.

यदि किसी व्यक्ति का मुंह और गला बार-बार सूखने लगे तो उसकी मृत्यु 6 महीने के अंदर हो सकती है.

किसी मनुष्य का बायां हाथ लगातार एक सप्ताह तक फड़कता रहे, सारे अंगों में अंगड़ाई आने लगे या तालू सूख जाए तो उस मनुष्य की मृत्यु एक महीने के अंदर हो सकती है.

 

=>
LIVE TV