शिप्रा आरती से हो रहे परंपरा के दीव्य दर्शन

Shipra-Aarti_5726f26452de9एजेंसी/ उज्जैन : हर ओर एलईडी लाईट्स की बिखरी रोशनी, घाटों पर उमड़ा जनसैलाब और घाटों के आसपास गूंजती आरती और मंत्रों के स्वर। लोगों का कौतूहल बढ़ा रहे थे। तो दूसरी ओर आरती की थाल हाथ में लेकर श्रद्धा और आस्था के साथ माता शिप्रा की आरती कर लोग खुद को धन्य समझ रहे थे। शिप्रा नदी के दोनों ओर बने घाटों पर हजारों – हजार श्रद्धालु उमड़े हुए थे।

दरअसल सिंहस्थ 2016 के दौरान शिप्रा नदी के रामघाट पर होने वाली शिप्रा आरती का दृश्य बड़ा ही मनोरम नज़र आता है। शाम के समय आरती का समय होने के पहले ही बड़े पैमाने पर लोग शिप्रा नदी के राम घाट और सामने की ओर बने दत्त अखाड़ा घाट की ओर उमड़ने लगते हैं। आरती की शुरूआत होने पर लोग अपलक आरती निहारते हैं कई बार तो लोगों को आरती नज़र भी नहीं आती है ऐसे में लोग आरती की ज्योति देखने का प्रयास करते हैं।

शिप्रा आरती का विहंगम दृश्य गंगा के घाटों पर होने वाली आरती की ही तरह नज़र आता है। रविवार को भी शिप्रा आरती के दौरान कुछ ऐसा ही नज़ारा देखने को मिला। इस दौरान शिप्रा मां को चुनरी ओढ़ाई गई। दत्तअखाड़ा घाट से राम घाट तक चुनर ओढ़ाकर मां शिप्रा से सुख – समृद्धि की कामना की गई।

सिंहस्थ 2016 के दौरान शिप्रा नदी के घाटों पर इन दिनों श्रद्धालुओं का हुजूम उमड़ रहा है। यही नहीं पंचक्रोशी यात्रा का संयोग होने से श्रद्धालुओं की तादाद अधिक हो गई है तो अवकाश होने पर कई लोग भी शहर में सिंहस्थ दर्शन के लिए उमड़ते हैं ऐसे में धार्मिक पर्यटन नगर में श्रद्धालु उमड़ते हैं।

=>
LIVE TV