विजय माल्या को भारत लाने की कवायद शुरु

vijaymallaya_5721fb5a61d00एजेंसी/ नई दिल्ली: रसूखदार बिजनेसमैन विजय माल्या को भारत लाने की सरकार ने पूरी तैयारी कर ली है. विदेश मंत्रालय ने माल्या के प्रत्यर्पण के लिए ब्रिटेन के हाई कमीशन को पत्र लिखा है. माल्या द्वारा बार-बार भारत आने से इंकार करने के बाद सरकार को सख्त कदम उठाना पड़ रहा है। हर वक्त जश्न के मूड में रहने वाले माल्या को इस बात का डर है कि उन्हें भारत आते ही तिहाड़ जेल भेज दिया जाएगा।

हाल ही में उन्होने भारत आने से साफ इंकार कर दिया था. दूसरी ओर सुप्रीम कोर्ट ने भी माल्या समेत उनके पूरे परिवार की संपत्ति का ब्योरा मांगा है. हाल ही में शीर्ष अदालत ने कहा था कि बैंको को माल्या की संपत्ति के बारे में जानकारी होनी चाहिए, माल्या पर 17 बैंको का कुल 9000 करोड़ रुपया बकाया है।

इस बाबत कल बैंको ने सुप्रीम कोर्ट में शिकायत की थी कि माल्या अपनी संपति का ब्योरा देने से इंकार कर रहे है, रिकवरी के लिए यह जानकारी बेहद जरुरी है. कोर्ट ने कहा कि यदि जरुरत पड़ी तो यूके की सरकार से भी मदद ली जाएगी. उधर, राज्यसभा की एथिक्स कमेटी के चेयरमैन कर्ण सिंह ने कहा था कि हम इस निष्कर्ष पर पहुंचे है कि माल्या की राज्यसभा की सदस्यता रद्द करदेनी चाहिए।

बैंकों का कर्ज नहीं चुकाने के चलते कोर्ट ने विजय माल्या को विलफुल डिफॉल्टर घोषित कर दिया है. सांसद बनने की एलिजबेलिटी में डिफॉल्टर नहीं होना भी एक कंडीशन है।

=>
LIVE TV