वाह रे यूपी पुलिस! मर चुके डिप्टी एसपी का ट्रांसफर कर दिया अयोध्या

लखनऊ। उत्तर प्रदेश पुलिस कई कारणों के चलते अक्सर चर्चा के केंद्र में रहती है। कभी एनकाउंटर्स के चलते तो कभी सूबे में प्रशासनिक लापरवाही के केस सामने आते रहते हैं। लेकिन हाल ही में एक ऐसा मामला सामने आया है, जिससे डीजीपी मुख्यालय में हड़कंप मच गया।

मीडिया रिपोर्टस के मुताबिक, बीते शुक्रवार यूपी में 19 पुलिस उपाधीक्षकों के तबादले किए गए। इन तबादलों की लिस्ट जारी होने पर इसमें दिवंगत डिप्टी एसपी सत्यनारायण सिंह का ट्रांसफर अयोध्या कर दिया गया।

जबकि सत्यनारायण सिंह का दिसंबर माह में ही कैंसर के चलते निधन हो चुका है। ऐसे में इस तरह की बड़ी लापरवाही होने के चलते यह मामला चर्चा का विषय बन गया।

मामले पर गहमागहमी बढ़ती देख खुद उत्तर प्रदेश के डीजीपी ने इसके लिए माफी मांगी है। उन्होंने इस मसले पर ट्वीट करते हुए माफी मांगी। यूपी डीजीपी ने मसले पर ट्वीट करते हुए लिखा कि यह गहरे खेद का विषय है।

पुलिस उपाधीक्षक सत्य नारायण सिंह के स्थानांतरण सूची रद्द कर दी गई है। इस तरह की गड़बड़ी अनुचित है और मैं इसके लिए एचओडी के रूप में माफी मांगता हूं।

उत्तराखंड में ट्रेकिंग को अब आ सकते हैं यहां भी, युवाओं ने खोजा नया विंटर ट्रेक

बता दें कि सत्यनारायण अभिसूचना मुख्यालय में तैनात थे और उनका तबादला अयोध्या किया गया था, लेकिन जब उनका ट्रांसफर अयोध्या हुआ था, वे कैंसर से पीड़ित होने के चलते अस्पताल में भर्ती थे।

शव को चिता पर रखते ही सुनाई दी ऐसी आवाज, जिससे सहम कर पीछे हट गए लोग…

पुलिस उपाधीक्षकों के तबादले का जो आदेश जारी हुआ है उसमें दिवंगत डिप्टी एसपी सत्यनारायण का स्थानांतरण अयोध्या के अभिसूचना मुख्यालय में किया गया है। इस तरह की लापरवाही सामने आने से यूपी पुलिस की इस मामले में काफी किरकिरी हो रही है। मामला सामने आने पर यूपी पुलिस विभाग में अपने काम के प्रति लापरवाही बरतने की चर्चाएं जोरों पर हैं।

=>
LIVE TV