लोकसभा सीट के कुछ वो मुकाबले, जिनमें बस नाक बचाने वाली जीत मिली ! देखें कौन थे वो लोग…  

लोकसभा चुनाव के नतीजों में विपक्ष के दिग्गज नेता मोदी की आंधी में उड़ गए और कई के लिए तो अपनी जमानत बचाना भी मुश्किल हो गया.बीजेपी के कई उम्मीदवारों ने 5 लाख से ज्यादा वोटों के अंतर से प्रचंड जीत हासिल की लेकिन एक उम्मीदवार ऐसा भी है जिसे सिर्फ 181 वोटों से जीत मिली है.

उत्तर प्रदेश की मछली शहर सीट से बीजेपी प्रत्याशी भोलानाथ के लिए नतीजों का दिन काफी उठापटक वाला रहा, क्योंकि हर पल जीत-हार का अंतर बदल रहा था. आखिर में उन्होंने बसपा के त्रिभुवन राम पर बहुत छोटे अंतर से जीत दर्ज की.

 

ये रहे वो कुछ मुक़ाबले –

बीजेपी के भोलानाथ को इस सीट पर 488397 वोट हासिल हुए और उनका वोट प्रतिशत 47.19 रहा. वहीं बसपा प्रत्याशी त्रिभुवन को 47.17 फीसदी वोट हासिल हुए लेकिन उनके वोटों की संख्या बीजेपी से 181 कम रह गई.

आखिर में बसपा प्रत्याशी के खाते में 488216 वोट आए और उन्हें चुनाव में सबसे कम अंतर से शिकस्त मिली. 2014 के चुनाव में इस सीट पर बीजेपी के राम चरित्र निषाद ने 1.72 लाख से ज्यादा वोटों से जीत दर्ज की थी.

 

प्रवर्तन निदेशालय (ED) ने दिल्ली हाई कोर्ट में की रॉबर्ट वाड्रा की बेल रद्द करने की मांग !…

 

इसी तरह अंडमान निकोबार सीट पर कांग्रेस के कुलदीप राय शर्मा ने बीजेपी को विशाल जॉली को सिर्फ 1407 वोटों के शिकस्त दी.

दूसरी ओर लक्षदीप में नेशनल कांग्रेस पार्टी के मोहम्मद फैजल ने सिर्फ 823 वोटों से कांग्रेस प्रत्याशी को हराया. झारखंड के खूंटी में बीजेपी के अर्जुन मुंडा ने कांग्रेस के कालीचरण मुंडा को महज 1445 वोटों से मात दी है.

 

इसी तरह पश्चिम बंगाल की आरामबाग सीट पर टीएमसी की अफरीन अली को बीजेपी के तपन कुमार रॉय पर सिर्फ 1142 वोटों से जीत मिली है.

बिहार के जहानाबाद में भी दिलचस्प मुकाबला देखने को मिला जहां जेडीयू के चंदेश्वर प्रसाद ने आरजेडी के सुरेंद्र प्रसाद को 1751 वोटों से चुनाव हरा दिया. हरियाणा के रोहतक में भी बीजेपी के अरविंद शर्मा ने कांग्रेस के दीपेंद्र हुड्डा पर 7503 वोटों से जीत हासिल की है.

 

=>
LIVE TV