लॉकडाउन में वीडियो की खपत में हुआ इजाफा,हॉटस्टार को 1,113 करोड़ रुपये की हुई फंडिंग!

दुनियाभर में कोरोना वायरस एक महामारी बन कर उभर रहा है,इसका प्रभाव वैश्विक अर्थव्यवस्था  पर भी नकारात्मक प्रभाव डाल रहा है। लेकिन इस बीच कुछ सेक्टर ऐसे भी हैं जिनकी मांग काफी बढ़ गई है। वीडियो स्ट्रीमिंग की सुविधा देने वाले ओटीटी प्लेटफॉर्म भी इन्हीं में से एक है। वैश्विक अर्थव्यवस्था
हॉटस्टार को मिली 1,113 करोड़ रुपये की फंडिंग मांग बढ़ने की वजह से भारत में नंबर-1 ओटीटी प्लेटफॉर्म हॉटस्टार ने अपनी पेरेंट कंपनियों स्टार इंडिया प्राइवेट लिमिटेड और स्टार यूएस की सब्सिडियरी कंपनी एलएलसी से 1,113.76 करोड़ रुपये की फंडिंग हासिल की है। हॉटस्टार के पास भारत में 80 लाख पेड सब्स्क्राइबर हैं।

चंडीगढ़: कोरोना संक्रमण से छह महीने की मासूम ने तोड़ा दम…

बिजनेस इंटेलिजेंस प्लेटफॉर्म टॉफलर की ताजा रिपोर्ट से प्राप्त जानकारी के अनुसार, फंडिंग डिज्नी हॉटस्टार को ऑपरेट करने वाली कंपनी नोवी डिजिटल प्राइवेट लिमिटेड को मिली है। मालूम हो कि इस फंडिंग से 869.47 करोड़ रुपये स्टार इंडिया से और 244.29 करोड़ रुपये एलएलसी से मिले हैं। वहीं दोनों कंपनियों को कुल 278 करोड़ शेयर मिले हैं।

मार्च में मिली थी 1,066 करोड़ रुपये की फंडिंग
इससे पहले मार्च में हॉटस्टार को 1,066 करोड़ रुपये मिले थे। यह इस साल की पहली सबसे बड़ी फंडिंग थी। तब आईपीएल की शुरुआत होने वाली थी और पेरेंट कंपनियों ने हॉटस्टार को मजबूत स्थिति में लाने के लिए फंडिंग की थी। लेकिन कोरोना वायरस महामारी के कारण आईपीएल अनिश्चितकाल के लिए टाल दी गई।

विशेषज्ञों के अनुसार, हॉटस्टार को भारत में शुरुआती सफलता इसलिए मिली क्योंकि इसके पास कई अहम स्पोर्ट्स राइट्स हैं। इनमें आईपीएल भी शामिल है। साथ ही भारत में होने वाली क्रिकेट सीरीज के इंटरनेट अधिकार भी हॉटस्टार के पास हैं।

 

=>
LIVE TV