लिवर के मरीज भूल कर भी न खाएं मूंगफली! आर्थराइटिस के मरीज भी जान लें इसके नुकसान

सर्दी के समय मूंगफली सेहत के लिए फायदेमंद रहती है। यह शरीर को गर्म रखने का काम करती है। मूगंफली में विटामिन-ई, विटामिन-बी6 मैग्नीशियम, फासफॉरस, पोटैशियम, जिंक और आयरन मौजूद होने की वजह से शरीर को मजबूत रखता है। लेकिन इस पोषक तत्वों से भरपूर मूंगफली के कुछ नुकसान भी होते है। तो चलिए जानते हैज्यादा मूंगफली खाना हमारे शरीर के लिए कैसे खतरनाक साबित हो सकता है….

लिवर को नुकसान पहुंचाना

हेल्थलाइन की एक रिपोर्ट के मुताबिक, मूंगफली शरीर में अफ्लेटॉक्सिन की मात्रा को बढता है। जिससे व्यक्ति को भूख न लगना और आंखों का पीला शुरु हो जाता है। जिसे लिवर के खराब होने की संभावना बढने लगती है।

लिवर कैंसर होने का खतरा

अफ्लेटॉक्सिन पॉयजनिंग के चलते न सिर्फ आपका लिवर डैमेज हो का खतरा बढ़ जाता है, बल्कि ये लिवर कैंसर का कारण भी बन जाता है।

आर्थराइटिस के मरीज न खाएं

मूगंफली का सेवन आर्थराइटिस के मरीजों को नहीं करना चाहिए। क्योकि मूंगफली में मौजूद लेक्टिन के कारण ऐसे मरीजों में सूजन की समस्या बढ़ जाती है। इससे कब्ज, एसिडिटी और सीने में जलन भी तेज होने लगती है।

शाकाहारी लोग दें ध्यान

मूंगफली में फाइटिक एसिड पाया जाता है। जो शरीर में जरूरी न्यूट्रिशनल वेल्यू को कम करता है। फाइटिक एसिड से शरीर में आयरन और जिंक की मात्रा घट जाती है। बैलेंस डाइट या रेगुलर मांस खाने वालों को इससे ज्यादा समस्या नहीं होगी। लेकिन जो लोग सिर्फ अनाज या फलीदार सब्जियों पर निर्भर रहते हैं, उन्हें दिक्कत हो सकती है।

स्किन से जुड़ी नुकसाव

मूंगफली ज्यादा खाने से व्यक्ति को स्किन से जुड़ी समस्याएं हो सकती हैं। इससे त्वचा में खुजली और रैशेज की दिक्कत बढ़ सकती है. मुंह पर खुजली और चेहरे पर सूजन के परेशानी भी बढ़ सकती है।

=>
LIVE TV