रिसर्च में हुआ खुलासा! हर हफ्ते 63 फीसदी महिलाएं HIV का हो रही हैं शिकार…

1 दिसंबर हैं पूरे विश्व में एड्स दिवस मनाया जा रहा है। वहीं हर रोज महिला हो या पुरुष किसी न किसी शहर से HIV से पीड़ित मिलेगी। वहीं रिसर्च में इसका खुलासा हुआ हैं हर हफ्ते 90 फीसदी रोगी एड्स से पीड़ित पाए जा रहे हैं।  पहले के समय में एड्स का इलाज संभव नही था। लेकिन आज के समय में एड्स का इलाज संभव हैं।

 

 

खबरों की माने तो सन्न 1988 में दुनिया को एचआईवी संक्रमण के प्रति जागरूक करने के लिए  1 दिसंबर को इसकी शुरुआत की गई थी। ये वो समय था जब ये बीमारी तेजी से फैल रही थी। लेकिन 90 के दशक के आखिर में एड्स चरम पर था, जिसने दुनिया को इसके खिलाफ लड़ने के लिए झकझोरा कर रख दिया।

 

नरेंद्र नगर विकासखंड मुख्यालय फकोट में प्रथम बीडीसी बैठक “परिचय समारोह” के तौर पर आहूत की गई, कई मुद्दों पर भी हुई चर्चा

 

जैसे – जैसे समय बीतता गया संक्रमण और मौत के मामलों में कम गिरावट देखने को  मिली । लेकिन मौजूदा आंकड़ों पर  देखा जाए तो  आज भी हर सप्ताह 15-24 साल की 6000 महिलाएं एचआईवी से संक्रमित होती हैं।

जानिए भारत से एड्स से संक्रमित लोगों के मामले –

भारत में पहला मामला साल 1986 में तमिलनाडु में सामने आया था। दो साल पहले भारत में एचआईवी संक्रमण में 46 फीसदी की कमी आई है। वहीं इलाज में महिलाएं आगे हैं। 63 फीसदी महिलाएं इलाज करा रही हैं, जबकि पुरुषों में ये संख्या 50 फीसदी ही रह गई है।

दरअसल साल 2020 तक 90 प्रतिशत हासिल करने का लक्ष्य रखा गया है यानी एचआीवी से ग्रसित 90 फीसदी लोगों को उनका एचआईवी स्टेटस पता हो।

=>
LIVE TV