रिश्वतखोरी के आरोप में थाना प्रभारी निलंबित, मुकदमा दर्ज

गाजियाबाद : यूपी के जनपद गाजियाबाद में सटोरियों को पकड़ने और रिश्वत लेकर उनको छोड़ने के मामले में इंदिरापुरम थाना के पूर्व थाना प्रभारी दीपक शर्मा को एसएसपी ने निलंबित कर दिया है। इसके साथ ही उनके खिलाफ उसी थाने में मुकदमा भी दर्ज हुआ है। एसएसपी सुधीर कुमार सिंह ने बताया कि यह मामला 22 और 23 अक्टूबर की रात का है,

जहां इंदिरापुरम के तत्कालीन थाना प्रभारी दीपक शर्मा ने इंदिरापुरम क्षेत्र में छापा मारकर कुछ सटोरियों को पकड़ा था। लेकिन उन्हें बिना लिखापढ़ी करके छोड़ दिया गया। दीपक शर्मा पर आरोप लगा था कि सटोरियों को छोड़ने की एवज में 14 लाख रुपये का लेन-देन किया था।

मामला पुलिस के बड़े अफसरों की जानकारी में आने के बाद एसएसपी ने पुलिस क्षेत्राधिकारी किशोर कुमार को मामले की जांच सौंपी और दीपक कुमार को उसी दिन लाइन हाजिर कर दिया। किशोर कुमार ने इस मामले की गहनता से जांच की और आरोपों को सही पाया। इसके बाद रविवार को उन्होंने इंदिरापुरम के पूर्व थाना प्रभारी के खिलाफ मुकदमा दर्ज कराई है।

क्षेत्राधिकारी ने बताया कि जांच के दौरान पता चला है कि इस मामले में दीपक शर्मा और कुछ पुलिसकर्मियों ने मोटा लेन-देन किया था। उनसे चार लाख छह हजार रुपये की नकदी भी बरामद की गयी है। उधर एसएसपी ने आरोप सही पाए जाने के बाद दीपक शर्मा को निलंबित कर दिया और जिस थाने में वह थाना प्रभारी थे, उसी में उनके खिलाफ मुकदमा दर्ज किया गया है।

मुस्लिम समुदाय के लोगों ने अयोध्या फैसले का किया स्वागत, जुलूस का अयोजन

गौरतलब है कि गाजियाबाद की पुलिस विभाग में भ्रष्टाचार के मामले लगातार प्रकाश में आ रहे हैं। पिछले दिनों लिंक रोड थाना क्षेत्र में थाना प्रभारी लक्ष्मी चौहान 70 लाख रुपये का गबन करने के मामले में भी जेल जा चुकी है।

=>
LIVE TV