रिजर्व बैंक ले सकता हैं बहुत जल्द ब्याज दरों को घटाने का फैसला , जाने इससे लाभ…

देश में आर्थिक वयवस्था बिगड़ती हुई नज़र आ रही हैं. वहीं देखा जाये तो भारत सरकार के सामने यह एक बड़ी चुनौती हैं. इस बात को मद्दे नज़र रखते हुए रिजर्व बैंक बहुत जल्द मौद्रिक नीति में ब्याज की दरों को घटाने का फैसला ले सकता हैं.

 

 

खबरों के मुताबिक सस्ते लोन की होड़ बुजुर्गों के लिए भारी पड़ रही है, लोन सस्ता होने का असर यह है कि बैंकों में जमा खातों पर मिलने वाले ब्याज दरों में भी लगातार कमी हो रही है.

खुशखबरी ! WhatsApp ला रहा हैं अपना एक नया फीचर , 5 सेकेण्ड में गायब हो जाएंगे आपके मैसेज…

देखा जाये तो 1 अक्टूबर से ब्याज दरों को बाजार के हिसाब से तय करने का नया फॉर्मूला लागू हो गया है. जिसके तहत रिजर्व बैंक जैसे ही बैंकों के लिए अपना लोन रेट घटाएगा बाकी बैकों को भी तत्काल ब्याज दर बदलना होगा.

स्टेट बैंक के अनुमान के मुताबिक देश भर के बैंकों में बुजुर्गों ने करीब 14 लाख करोड़ रुपये यानी जीडीपी का सात फीसदी टर्म डिपॉजिट के रूप में जमा है. निजी उपभोग खर्चों के रूप में देखें तो इनकी ब्याज दर पिछले छह सालों में 8.1 फीसदी से घटकर 5.5 फीसदी पर सिमट गई है.

दरअसल देश के सबसे बड़े बैंक स्टेट बैंक ऑफ इंडिया ने अपने रिसर्च नोट में कहा है कि घटती ब्याज दरों के इस दौर इन जमा खातों की ब्याज दर और नीचे जा सकती है. साथ ही इसका असर निजी उपभोग खर्च में कमी आने का अंदेशा है.

 

 

 

=>
LIVE TV