रात के 1.30 बजे तक चली प्रियंका की स्पेशल मीटिंग, बस एक-दूसरे को ताकते रहे कार्यकर्ता…

कांग्रेस की पूर्वी यूपी प्रभारी प्रियंका गांधी वाड्रा ने पार्टी कार्यकर्ताओं और नेताओं को लोकसभा चुनाव जीतने की रणनीति समझाई।

कहा-सबसे ज्यादा ध्यान युवाओं और महिलाओं पर देने की जरूरत है। क्योंकि, मोदी सरकार व योगी सरकार की जनविरोधी नीतियों से सबसे ज्यादा वे प्रभावित हो रहे हैं। वे रात 1:30 बजे तक कार्यकर्ताओं से मुलाकात कर रहीं थीं।

प्रियंका गांधी वाड्रा

प्रियंका ने 12 फरवरी को बुलाए गए प्रत्येक लोकसभा क्षेत्र के लोगों के लिए एक से डेढ़ घंटे का समय दिया।

उन्नाव, मोहनलालगंज, लखनऊ, सुल्तानपुर, प्रतापगढ़, रायबरेली, अमेठी, फतेहपुर क्षेत्र की बैठकें रात करीब 10:30 बजे तक समाप्त हो चुकी थीं।

उसके बाद बाराबंकी, कौशाम्बी, फूलपुर और इलाहाबाद क्षेत्र के लोगों को एक-एक करके बुलाना शुरू किया।

प्रियंका ने कार्यकर्ताओं को समझाया कि वे एक-एक करके बात रखें। क्योंकि, उनके पास उन्हें सुनने के लिए पर्याप्त समय है।

रात 12:40 बजे उन्होंने मंगलवार के लिए निर्धारित अंतिम लोकसभा क्षेत्र इलाहाबाद के लोगों को मिलने के लिए बुलाया।

पूर्व सांसद अनु टंडन के साथ 18 कार्यकर्ता व नेता प्रियंका से मिलने पहुंचे थे। प्रियंका ने एक-एक से अलग-अलग बात की।

पदाधिकारियों से पूछा कि लोकसभा क्षेत्र में विधानसभावार कितने बूथ हैं।

दिल्ली में केजरीवाल की महारैली आज, यशवंत सिन्हा भी करेंगे मंच साझा…

वहां कांग्रेस संगठन की क्या स्थिति है। कुल मिलाकर प्रियंका ने कार्यकर्ताओं के मन में यह बात बैठाई कि अगर जीतना चाहते हैं तो मुख्य लड़ाई बूथ पर होगी।

अनु टंडन ने बताया कि उन्नाव लोकसभा क्षेत्र में ब्लॉक स्तर पर बैठकें की जा रही हैं।

मिलने वालों में, प्रदेश महासचिव वीर प्रताप सिंह, पूर्व जिलाध्यक्ष अंकित परिहार और जिलाध्यक्ष डॉ. सूर्य नारायण यादव भी शामिल थे।

अंकित परिहार ने बताया कि प्रियंका गांधी ने सबसे ज्यादा सवाल किसानों की समस्याओं को लेकर पूछे।

=>
LIVE TV