सैयद अली शाह गिलानी-“राज्य में पहुंचने पर बदल जाते हैं बातों के मायने”

syed-ali-shah-geelani_5619fc4247840एजेंसी/ श्रीनगर : जब वरिष्ठ नेता और कर्ताधर्ता जम्मू-कश्मीर राज्य में पहुंचते हैं तो वे इंसानियत, कश्मीरियत और जमूरियत को भूल जाते हैं। घाटी में इन तत्वों का गला घोंट दिया जाता है। यह बात वरिष्ठ अलगाववादी नेता और हुर्रियत काॅन्फ्रेंस के प्रमुख सैयद अली शाह गिलानी ने कही। गिलानी प्रधानमंत्री नरेद्र मोदी द्वारा भूतपूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी द्वारा दिए गए नारे को दोहराने पर चर्चा कर रहे थे।

उन्होंने इस तरह की बात को दोहने को एक झूठी बात ही बताया। उन्होंने मोदी की जम्मू-कश्मीर को मिनी इंडिया कहने वाली बात को गलत और अर्थहीन कहा है। उन्होंने कहा कि प्रदेश एक अलग राष्ट्र है।

उनका कहना था कि उनके धार्मिक विश्वास की चिंता किए बिना भाईचारा कायम करना यहां की पहचान है। यदि इसे मिनी इंडिया कहा जाता है तो यह वास्तविकता से अलग है।

=>
LIVE TV