योगी से मुलाकात के बाद शिक्षामित्रों का आंदोलन स्थगित

सहायक शिक्षकलखनऊ। उत्तर प्रदेश में सर्वोच्च न्यायालय द्वारा सहायक शिक्षक पद पर समायोजन रद्द किए जाने के बाद से आंदोलनरत शिक्षा मित्रों का एक प्रतिनिधिमंडल मंगलवार को मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ से मिला। करीब तीन घंटे तक चली बैठक में योगी द्वारा मिले आश्वासन के बाद शिक्षा मित्रों ने आंदोलन खत्म कर बुधवार से काम पर लौटने का निर्णय लिया।

दरअसल, सोमवार को शिक्षा मित्रों के साथ अपर मुख्य सचिव राजप्रताप सिंह की बातचीत भी विफल होने के बाद शिक्षामित्र मंगलवार को आंदोलन पर थे, जिसके बाद मंगलवार को शिक्षा मित्रों के प्रतिनिधिमंडल ने मुख्यमंत्री योगी के साथ भेंट की।

प्रेमी से बात करने को रोका तो पत्नी ने पति को मार दिया चाकू

इस दौरान बेसिक शिक्षा मंत्री स्वतंत्र प्रभार अनुपमा जायसवाल भी मौजूद थी। करीब तीन घंटे की इस बैठक के बाद शिक्षा मित्रों ने योगी के आश्वासन के बाद अपना आंदोलन एक सप्ताह के लिए स्थगित कर दिया। मुख्यमंत्री के आश्वासन के बाद अब शिक्षा मित्र बुधवार से स्कूल जाकर अपना काम करेंगे।

मुख्यमंत्री ने प्रतिनिधिमंडल से कहा कि वह इस बाबत प्रस्ताव लाने की कोशिश करेंगे।

शिक्षा मित्रों का आंदोलन मुख्यमंत्री के आश्वासन के बाद स्थगित कर दिया गया। मुख्यमंत्री ने शिक्षा मित्रों को पहले भी आंदोलन खत्म करने का सुझाव दिया था। मंगलवार को हुई बैठक में मुख्यमंत्री ने शिक्षामित्रों से स्कूलों में जाकर छात्रों को पढ़ाने को कहा। इस बात पर शिक्षा मित्र राजी हो गए हैं। इन सभी ने प्रदेश में चल रहा आंदोलन को एक हफ्ते के लिए टाल दिया है।

शिक्षामित्रों ने कहा कि अगर एक हफ्ते में भी कोई ठोस नीति नहीं बनी तो प्रदेश में फिर बड़ा आंदोलन शुरू होगा।

अंधविश्वास : लाइलाज बीमारियों का इलाज करने में माहिर हैं रायबरेली के मंगली बाबा!

आदर्श समायोजित शिक्षक वेलफेयर एसोसिएशन के अध्यक्ष जितेंद्र शाही ने कहा, “सरकार पर हमको भरोसा है और प्रस्ताव तैयार कैबिनेट में लाने के लिए समय मांगा है।”

=>
LIVE TV