यश भारती पुरस्कार पर हाईकोर्ट ने अखिलेश सरकार को से जवाब-तलब किया

yash-bharti-awards_landscape_1459499361आईपीएस अमिताभ की याचिका पर सुनवाई करते हुए हाईकोर्ट की लखनऊ बेंच ने यश भारती पुरस्कार को लेकर अखिलेश सरकार से जवाब-तलब किया है।

हाईकोर्ट के जस्टिस एपी साही और जस्टिस एआर मसूदी की बेंच ने पुरस्कारों को लेकर सवालों के घेरे में लिया। उन्होंने राज्य सरकार से पूछा कि ये पुरस्कार किस वित्तीय मद से दिए जा रहे हैं? ‌इसके अलावा पुरस्कार देने की अहर्ता को लेकर भी सवाल उठाए।

 
बता दें कि निलंबित आईपीएस अमिताभ ठाकुर ने यशभारती पुरस्कारों के खिलाफ हाईकोर्ट में याचिका दायर की थी। 

उनका कहना था कि यशभारती पुरस्कार लिस्ट में कई नाम ऐसे हैं जिनकी उपलब्धियों की जानकारी ढूंढ़ने से भी नहीं मिली।

उन्होंने कहा कि पुरस्कार की लिस्ट में पहले 22 नाम थे बाद में इन्हें चुपचाप बढ़ाकर 46 कर दिया गया। इस पर उन्होंने पुरस्कार मनमाने तरीके से दिए जाने की बात कही थी। इसके अलावा मुख्य सचिव आलोक रंजन की पत्नी सुरभि रंजन को पुरस्कार दिए जाने को उन्होंने प्राकृतिक न्याय के सिद्धांत के खिलाफ बताया था।

 
 
=>
LIVE TV