मौसम विभाग की ताजा भविष्यवाणी, जानिए 4 जून तक कैसा रहेगा मौसम का हाल

पश्चिमी विक्षोभ के चलते शुक्रवार को आई तेज आंधी के बाद लगातार तीन दिन से रुक-रुक कर हो रही बारिश से दिल्ली-एनसीआर में मौसम सुहाना हो गया है। इसी के साथ न्यूनतम और अधिकतम तापमान में भी भारी गिरावट आई है। अधिकतम तापमान 10 डिग्री तक नीचे आ गया है। इसके चलते लोगों को भारी गर्मी से राहत मिली है और यह राहत अगले कुछ दिन तक मिलती रहेगी।

भारत मौसम विज्ञान विभाग के क्षेत्रीय पूर्वानुमान केंद्र के प्रमुख कुलदीप श्रीवास्तव ने बताया कि पश्चिमी विक्षोभ के कारण निचले स्तर पर हवा चलती रहेगी। यही वजह है कि दिल्ली का पारा पीक पर जाने के बाद ढलान पर है। इस महीने में दूसरी बार तापमान 35 डिग्री से नीचे खिसका है। लगातार होने वाली आंधी और बारिश ने तापमान गिरा दिया है। सोमवार को भी हल्की बारिश हो सकती है। अनुमान है कि इसके बाद दो तीन दिनों तक आसमान साफ रहेगा। चार जून से दोबारा बारिश का अंदेशा है।

इससे पहले रविवार शाम को अचानक मौसम बदला और देर रात तक झमाझम बारिश हुई, इसके बाद दिल्ली का अधिकतम तापमान 34 डिग्री सेल्सियस पर आ गया।

वहीं, मौसम विभाग की मानें तो 31 मई पिछले चार सालों के दौरान सबसे ठंडा रहा। दरअसल, रविवार को दिल्ली का अधिकतम तापमान सामान्य से छह डिग्री कम 34.6 डिग्री सेल्सियस दर्ज हुआ। इससे पहले 2017 से लेकर अभी तक 31 मई का यह सबसे कम अधिकतम तापमान है।

मौसम विभाग के मुताबिक, दिल्ली-एनसीआर में मानसून के आने में तकरीबन एक महीने का समय बाकी है, ऐसे में जून के दूसरे सप्ताह में भीषण गर्मी का दौर फिर शुरू होगा। पारा एक बार फिर 45 डिग्री सेल्सियस के पार जा सकता है। ऐसे में एक बार फिर लोगों का गर्मी से सामना होगा।

=>
LIVE TV