गुरूवार , जून 21 2018

मायावती के भाई का ‘माया-जाल’, सात साल में बनाई 1316 करोड़ की दौलत

मायावतीलखनऊ। नोटबंदी के बाद से देश में कई उद्योगपतियों के ऑफिस और घर में छापा मारकर आयकर विभाग ने करोड़ों रुपए की संपत्ती को जब्त कर लिया। अब खबर आ रही है कि बसपा सुप्रीमों मायावती के भाई आनंद कुमार की संपत्ती 2007 से 2014 के बीच चार गुना से भी ज्यादा बढ़ गई है।

आनंद कुमार की दौलत 2007 से 2014 के बीच काफी तेजी से बढ़ी। यही वो वक्त था, जब उनकी बहन मायावती यूपी की सीएम थीं। इस दौरान आनंद की नेटवर्थ 7.5 करोड़ रुपये से बढ़कर 1316 करोड़ रुपये हो गई। बता दें कि आनंद कुमार बेहद लो प्रोफाइल रहकर काम करते हैं। उनकी तस्वीर भी बड़ी मुश्किल से उपलब्ध है।

आयकर विभाग की जांच में कागजों पर कंपनियां बनाए जाने, करोड़ों का संदिग्ध लोन लेने और रियल एस्टेट सेक्टर में बड़े पैमाने पर निवेश किए जाने की बात सामने आई है। इनकम टैक्स डिपार्टमेंट के संदेह के घेरे में आई कंपनियों में से पहली है-आकृति होटल्स प्राइवेट लिमिटेड। आनंद कुमार की इस होटल में डिबेन्चर शेयर्स के जरिए हिस्सेदारी है।

रजिस्ट्रार ऑफ कंपनीज के आंकड़ों के मुताबिक, आकृति होटल्स दिल्ली की एक कंपनी है। इस कंपनी के तीन डायरेक्टर और 37 इक्विटी शेयरहोल्डर्स हैं। हालांकि, ये सभी वैध नहीं नजर आते। आकृति होटल्स की कई शेयरहोल्डर कंपनियों का वजूद सिर्फ कागजों पर है।

इनकम टैक्स डिपार्टमेंट के संदेह के घेरे में आई कंपनियों में से पहली है-आकृति होटल्स प्राइवेट लिमिटेड। आनंद कुमार की इस होटल में डिबेन्चर शेयर्स के जरिए हिस्सेदारी है। रजिस्ट्रार ऑफ कंपनीज के आंकड़ों के मुताबिक, आकृति होटल्स दिल्ली की एक कंपनी है। इस कंपनी के तीन डायरेक्टर और 37 इक्विटी आकृति होटल्स में कई कंपनियों-भास्कर फंड मैनेजमेंट लिमिटेड, क्लिफ्टन पियरसन एक्सपोर्ट एंड एजेंसीज, डेल्टन एक्जिम प्राइवेट लिमिटेड, गंगा बिल्डर्स लिमिटेड की हिस्सेदारी है।

इनके पास कुल 5,00,150 शेयर हैं।यरहोल्डर्स हैं। हालांकि, ये सभी वैध नहीं नजर आते। आकृति होटल्स की कई शेयरहोल्डर कंपनियों का वजूद सिर्फ कागजों पर है।

=>
LIVE TV