महामारी के प्रतिबंधों के खिलाफ प्रदर्शनकारियों ने जर्मनी के संसद भवन के समीप किया जबरदस्‍त विरोध प्रदर्शन

कोरोना महामारी के प्रतिबंधों के खिलाफ प्रदर्शनकारियों ने जर्मनी के संसद भवन के समीप जबरदस्‍त विरोध प्रदर्शन किया। प्रदर्शनकारी फेस मास्‍क और अन्‍य प्रतिबंधों का विरोध कर रहे हैं। प्रदर्शनकारियों को रोकने के लिए संसद पर भारी पुलिस बल लगाया गया है। पुलिस ने प्रदर्शनकारियों को संसद परिसर में प्रवेश करने से रोक दिया है। प्रदर्शनकारी जर्मन सरकार के ख‍िलाफ जमकर नारे बाजी कर रहे थे। इस बीच जर्मनी के शीर्ष सुरक्षा अधिकारी ने इस घटना की निंदा की है। जर्मनी के गृहमंत्री होर्स्‍ट सीहोफर ने कहा कि रीचस्‍टैग बिल्डिंग हमारी संसद का कार्यस्‍थल है। यह हमारे उदार लोकतंत्र का प्रतीकात्‍मक केंद्र है।

प्रदर्शनकारियों ने पुलिस पर पत्‍थर और बोतलें फेंकी 

पुलिस ने ट्विटर पर इस बात की पुष्टि की कि संसद भवन के सामने कई लोगों ने हमारे सहयोगियों पर पत्‍थर और बोतलें फेंकी है। पुलिस ने माना कि कुछ प्रदर्शनकारी रीचस्‍टैग इमारत की सीढि़यों तक पहुंच गए थे, लेकिन वह संसद भवन तक पहुंचने में नाकाम रहे। इस दौरान प्रदर्शनकारियों ने तोड़फोड़ भी किया। जर्मन पुलिस ने बताया कि प्रदर्शनकारियों को नियंत्रित करने के लिए बल का प्रयोग करना पड़ा। पुलिस का दावा है कि इस रैली में करीब 38,000 लोग शामिल थे। पुलिस ने करीब 300 प्रदर्शनकारियों को हिरासत में लिया है। 

प्रदर्शनकारियों ने 1871-1981 के जर्मन रीच के झंडे लहराए

प्रदर्शनकारी कोरोना महामारी के प्रसार को रोकने के लिए सरकार द्वारा लगाए गए प्रतिबंधों का विरोध कर रहे हैं। लोगों ने फेस मास्‍क पहनने का भी विरोध किया है। इस प्रदर्शन में हजारों लोगों ने हिस्‍सा लिया। हालांकि, प्रदर्शन के एक फुटेज में सैंकड़ों लोगों को विरोध करते दिखाया गया है। इस दौरान कुछ प्रदर्शनकारियों ने 1871-1981 के जर्मन रीच के झंडे लहराए। इस फुटेज में लोगों को रीचस्‍टैग बिल्डिंग की और दौड़ते हुए देखा गया है। कुछ प्रदर्शनकारी सीढि़यों की ओर बढ़ते देखे गए हैं। इसमें शामिल लोगों ने कई मुद्दों पर अपना विरोध व्‍यक्‍त किया। रैली में शामिल लोगों ने जर्मन सरकार के विरोध के साथ फेस मास्‍क का भी विरोध किया। 

प्रदर्शनकारियों ने शारीरिक दूरी के नियमों का उल्‍लंघन किया 

पुलिस के तमाम विरोध के बावजूद प्रदर्शनकारियों ने राजधानी बर्लिन के प्रतिष्ठित ब्रैंडेनबर्ग गेट पर रैली का आयोजन किया। पुलिस ने प्रदर्शनकारियों को रोकेने के लिए बर्लिन के मुख्‍य मार्गों को बंद कर दिया था। पुलिस ने प्रदर्शनकारियों को शारीरिक दूरी के नियमों के उल्‍लंघन पर भी सावधान किया, लेकिन इन नियमों को ताक पर रखकर प्रदर्शनकारियों ने रैली निकाली। वह बर्लिन स्थिति संसद भवन परिसर के समीप पहुंच गए। 

=>
LIVE TV