मदरसे की आड़ में खुलेआम काटे जा रहे थे गाय भैंस, जानें पूरा मामला

रिपोर्ट- RITIK DWIVEDI

पीलीभीत :पीलीभीत में शहर के प्रमुख शहर काजी के मदरसे दरगाह हस्मतियाँ में पुलिस ने छापेमारी कर अवैध पशुओं को काटते हुए दो आरोपियों को हिरासत में लिया है । आपको बता दें पुलिस को लगातार मदरसे में अवैध कत्ल गाह चलाए जाने की सूचना मिलने के बाद आज सुबह पुलिस ने शहर काजी जरताब रजा के मदरसे पर छापेमारी कर मौके से अवैध पशु काटते हुए दो आरोपियों को हिरासत में लेकर पूछताछ कर कार्रवाई की जा रही है ।

ये जो आप तस्वीरों में साफ देख रहे है ये पीलीभीत के प्रमुख शहर मुफ़्ती जरताब रजा का मशहूर हस्मतियाँ की दरगाह व मदरसा है ,, ये क्या मदरसे में इस्लामिक शिक्षा दी जाती है लेकिन यहाँ तो मदरसे में अवैध पशुओं को खुलेआम काटा जा रहा है । जी हां ये इस्लामिक शिक्षा देने वाले शहर मुफ़्ती का मदरसा है जिन पर लूट हर्ष फायरिंग सहित धारा 420 के तहत कई मुदकमे भी दर्ज है लेकिन पुलिस के संरक्षण में शहर के जाने माने मुफ़्ती साहब मदरसे में खुलेआम अवैध पशुओं को कटवाकर उनकी तस्करी करते है। वहीं लगातार पुलिस को मदरसे में अवैध पशुओं के कटने की सूचना के बाद मौके से काटे गए अवैध पशुओं सहित दो आरोपियों को गिरफ्तार कर एफआईआर दर्ज कर मामले की जांच शुरू कर दी है ।

लेकिन पुलिस ने मदरसा संचालक के खिलाफ मामले में कोई कार्रवाई ना करते हुए शहर काजी को क्लीन चिट दे दी है । आखिर ये बड़ा सवाल है कि किस तरह से योगी सरकार में मदरसों में खुलेआम पुलिस की नाक के नीचे अवैध पशुओं को काट कर तस्करी का काम चल रहा है ।

लकड़ी माफियाओं के हौसले बुलंद, पुलिस और वन विभाग की मिलीभगत से काट डाले आम के बाग

पुलिस की गिरफ्त में आरोपियों ने बताया कि उन्हें शहर काजी जरताब रजा ने अवैध पशुओं को 300 रुपए की मजदूरी पर बुलाकर कटवाए हैं । आखिर कार शहर काजी के मदरसे में ना जाने कब से पुलिस की नाक के नीचे अवैध पशुओं को काटने का कारोबार जोरो से चल रहा था जिसकी चर्चा के बाद आज पुलिस संरक्षण में व्यापक काजी के मदरसे में बड़ी कार्रवाई कर पशु बरामद कर एफआईआर दर्ज कर ली गई है ।

=>
LIVE TV