इलाहाबाद: पांच हत्याओं के पीछे एक मंदिर

five-murdersइलाहाबाद| जिले के कौंधियारा स्थित एकौनी गांव में मंदिर विवाद को लेकर रविवार शाम पांच लोगों का क़त्ल कर‍ दिया गया| इस वारदात के बाद जहाँ गांव में हाहाकार मचा है, वहीँ इलाके में दहशत का माहौल है| हरकत में आई पुलिस ने दो पक्षों के सात लोगों को हिरासत में लिया है और पूछताछ की जा रही है|

मंदिर विवाद था बरसों पुराना

पुलिस की पूछताछ में जो बातें सामने आयी हैं, उनके मुताबिक तीन साल पहले गांव के शिवसेवक पांडेय को उनके परिवार के ही रामकैलाश पांडेय ने मंदिर में पूजा करने से रोका था| इस बात पर दोनों के बीच कहासुनी हुई थी, जिसके बाद शिवसेवक उसी जगह पर दूसरा मंदिर बनवाने के लिए अपने भाइयों समेत अड़ गया था|

रामकैलाश और उसका दरोगा पुत्र सुरेश लगातार शिवसेवक का विरोध कर रहे थे। तीन साल से चले आ रहे इस विवाद में रविवार शाम कत्लेआम मच गया।

दरोगा सुरेश पांडेय ने शिवसेवक के पक्ष के तीन लोगों को गोली मार दी। दूसरे पक्ष ने उनके पिता रामकैलाश सहित सुरेश को भी मौत के घाट उतार दिया|

पुलिस ने इस मामले में दोनों परिवारों के कुछ लोगों को हिरासत में लिया है| आधी रात तक आला अफसर गांव में डटे रहे और शांति-व्यवस्था बनाए रखने की रणनीति तैयार करते रहे।

आईजी जोन आरके चतुर्वेदी ने बताया, ‘मारे गए पांच लोगों में दरोगा सुरेश पांडेय, पूर्व दरोगा शिवसेवक पांडेय और सीआरपीएफ का सिपाही कृष्ण सेवक शामिल हैं।

इस घटना के पीछे मंदिर का विवाद असल वजह थी। पहले से बने एक मंदिर के बगल में दूसरा मंदिर बनाने को लेकर दोनों पक्षों में लगातार विवाद चला आ रहा था|

सुरेश पांडेय के तरफ से आए लोग पुलिस से कातिलों की गिरफ्तारी की मांग कर रहे थे| इस वजह से शवों को पोस्टमार्टम हाउस भेजने में भी पुलिस को काफी मशक्कत करनी पड़ी|

पुलिस ने मारे गए दरोगा सुरेश पांडेय की लाइसेंसी राइफल बरामद कर ली है| हत्याकांड में दोनों तरफ के लोगों की धरपकड़ के लिए छापेमारी जारी है| दोनों ही पक्षों के ज्यादातर पुरुष फरार चल रहे हैं, जबकि महिलाएं कुछ भी बोलने को तैयार नहीं हैं|

LIVE TV