Thursday , August 17 2017

500-1000 किलो का बम दागने का मिला दम, अब कौन करेगा भारत से दुश्मनी

missile_146356293093_650x425_051816024623_112116122148-300x196नई दिल्ली। भारत ने सोमवार को पृथ्वी-II मिसाइल का सफल टेस्ट किया। ये मिसाइल परमाणु हथियार ले जाने में सक्षम है। इस मिसाइल के सफल प्रक्षेपण से अब भारत से दुश्मनी करने वाले दुश्मन देशों को इस मिसाइल का सामना करना पड़ेगा।  पृथ्वी II मिसाइल को साल 2003 में भारतीय सेना में शामिल किया गया था।

खबर के मुताबिक, ओडिशा स्थित बालासोर जिले के चांदीपुर में पृथ्वी II मिसाइल का सफल प्रक्षेपण हुआ। 500 से 1000 किलोग्राम तक का भार उठाने में सक्षम इस मिसाइल को देश में बनाया गया है।

पृथ्वी II को सुबह 9 बजकर 35 मिनट पर एकीकृत परीक्षण रेंज (आईटीआर) के प्रक्षेपण परिसर-3 से एक मोबाइल लॉन्चर से प्रक्षेपित किया गया। सतह से सतह पर 350 किलोमीटर की दूरी तक मार करने वाली पृथ्वी मिसाइल दो लिक्विड प्रपल्शन इंजन से चलती है।

पृथ्वी II की खूबियां

पृथ्वी II भारत की पहली देश में निर्मित बैलिस्टिक मिसाइल है। यह सतह से सतह पर 350 किलोमीटर तक मार करती है। यह लिक्विड और सॉलिड, दोनों तरह के ईंधन से ऑपरेट होती है। यह परंपरागत और परमाणु, दोनों तरह के हथि‍यार ढोने में सक्षम है। इसमे दो इंजन लगे हैं जिसकी लंबाई 8.56 मीटर, चौड़ाई 1.1 मीटर और वजन 4,600 किलोग्राम है। इससे पहले पृथ्वी-II का सफल यूजर ट्रायल 16 फरवरी 2016 और 14 नवंबर 2014 को किया गया था।यह मिसाइल 483 सेकेंड तक और 43.5 किमी की ऊंचाई तक उड़ान भर सकती है और 500 से 1000 किग्रा तक का भार उठाने में सक्षम है।

 

 
LIVE TV