भारत में COVID-19 के अब तक 10,38,716 मामले आए सामने जिनमे 6,53,751 लोग हो चुके ठीक

 भारत में कोरोना वायरस (COVID-19)के अब तक 10,38,716 मामले सामने आ गए हैं। इनमें से 3,58,692 केस है और 6,53,751 लोग ठीक हो गए हैं। वहीं 26,273 लोगों की मौत हो गई है। स्वास्थ्य मंत्रालय ने इसकी जानकारी दी है। मंत्रालय के अनुसार पिछले 24 घंटे के दौरान 34,884 मामलों की पुष्टि हुई है और 671 लोगों की मौत हो गई है। अब तक 62.94 मरीज संक्रमण से उबर गए हैं। यह लगातार तीसरा दिन है जब देश में कोरोना के 30,000 से अधिक मामले सामने आए हैं। भारतीय चिकित्सा अनुसंधान परिषद (ICMR) के अनुसार देश में पिछले 24 घंटे के दौरान कुल 3,61,024 सैंपल टेस्ट हुए हैं। 17 जुलाई तक कुल 1,34,33,742 सैंपल टेस्ट कर लिए गए हैं। 

मंत्रालय के अनुसार देश में महाराष्ट्र में कोरोना के सबसे ज्यादा मामले सामने आए हैं। यहां अभी तक  2,92,589 मामलों की पुष्टि हो गई है और 11,452 लोगों की मौत हो गई है। तमिलनाडु में 1,60,907 मामले सामने आए हैं और 2,315 लोगों की मौत हो गई है। दिल्ली में अब तक 1,20,107 केस सामने आए हैं और 3,571 लोगों की मौत हो गई है। 

पिछले 24 घंटों में 671 लोगों की मौत

पिछले 24 घंटों में हुई 671 मौतों में से, महाराष्ट्र में 258, कर्नाटक से 115, तमिलनाडु से 79, आंध्र प्रदेश से 42, उत्तर प्रदेश से 38, पश्चिम बंगाल और दिल्ली में 26, गुजरात में 17 लोगों ती मौत हुई। जम्मू और कश्मीर और पंजाब में नौ-नौ और मध्य प्रदेश और राजस्थान से आठ-आठ लोगों की संक्रमण से मौत हुई। तेलंगाना में सात, हरियाणा में पांच, झारखंड, बिहार और ओडिशा में चार-चार, असम और पुडुचेरी में तीन-तीन, छत्तीसगढ़ और गोवा में दो-दो लोगों की मौत हो गई। केरल और उत्तराखंड ने एक-एक लोगों की मौत हुई।

बिहार, पश्चिम बंगाल, असम और ओडिशा में तेजी से बढ़ रहे मामले

बिहार, पश्चिम बंगाल, असम और ओडिशा में कोरोना वायरस के मामले तेजी से बढ़ रहे हैं। समाचार एजेंसी पीटीआइ के अनुसार केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने इन राज्यों को वायरस के प्रसार को रोकने के प्रयासों को मजबूत करने के लिए कहा है। इन राज्यों में नए सिरे से लॉकडाउन लगने के बाद, स्वास्थ्य मंत्रालय ने जोर दिया कि कंटेनमेंट और बफर जोन में टेस्टिंग और सर्विलांस पर जोर देने का आदेश दिया है। इन राज्यों के प्रधान सचिवों (स्वास्थ्य) और सचिव (स्वास्थ्य) को लिखे पत्र में, स्वास्थ्य मंत्रालय में संयुक्त सचिव लव अग्रवाल ने उन्हें यह सुनिश्चित करने के लिए कहा कि कम से कम 80 फीसदी नए मामलों कॉन्टेक्ट ट्रेसिंग करने और मामले की पुष्टि के बाद 72 घंटे के भीतर क्वारंटाइन करने को कहा है।

=>
LIVE TV