भाकियू पदाधिकारियों ने किया कछला चौकी का घेराव

भाकियू पदाधिकारियों ने कछला चौकी का घेराव किया। उनका आरोप था कि कच्ची का कारोबार करने वालों को साठगांठ कर छोड़ दिया। जबकि दो निर्दोष व्यक्तियों को गिरफ्तार कर उनका कच्ची शराब में चालान कर दिया। इसके साथ ही यह ग्रामीणों को भी परेशान करते हैं। इससे नाराज भाकियू पदाधिकारियों ने चौकी का घेराव कर पुलिस के खिलाफ नारेबाजी की। सीओ उझानी अनिरुद्ध सिंह ने दो सिपाहियों को चौकी से हटाने के निर्देश दिए।

यूनियन के जिला उपाध्यक्ष जोगेंद्र सिंह ने आरोप लगाया कि चार दिन पहले कछला चौकी से दो सिपाहियों ने नानाखेड़ा गांव से कच्ची शराब बेचते हुए दो लोगों को हिरासत में लिया था। जिन्हें चौकी लाकर साठगांठ कर छोड़ दिया गया। फिर दोनों सिपाहियों ने दो अन्य निर्दोष व्यक्तियों को कच्ची शराब के मामले में हिरासत में लेकर चालान कर दिया। इसकी शिकायत यूनियन कार्यकर्ताओं ने एसएसपी से की। 25 अगस्त को चौकी के घेराव करने की चेतावनी दी थी। मंगलवार सुबह भाकियू कार्यकर्ता मुख्य चौराहा से चौकी का घेराव करने के लिए निकले। कार्यकर्ताओं ने चौकी का घेराव कर पुलिस के खिलाफ नारेबाजी करने लगे। मौके पर पहुंचे सीओ उझानी ने आश्वासन दिया की चौकी पर तैनात सिपाही महिपाल और देवेंद्र को यहां से हटा दिया गया है। इसके बाद कार्यकर्ताओं का गुस्सा शांत हुआ। यूनियन के कार्यकर्ताओं ने चौराहे पर बैठक आयोजित की। जिसमें कई मुद्दों पर चर्चा हुई। शाम चार बजे यूनियन से अपनी सभा समाप्त की। इस दौरान सोमवीर सिंह, महिपाल, नंदराम, महेंद्र सिंह, अशोक आदि कार्यकर्ता मौजूद रहे।

=>
LIVE TV