Bihar Assembly Election 2020 : निर्वाचन आयोग ने कहा-मुफ्त कोरोना वैक्सीन का वादा आचार संहिता का उल्लंघन नहीं

भारतीय जनता पार्टी ने पिछले दिनों बिहार के लिए अपना चुनावी घोसणा पत्र जारी किया था।घोसणा पत्र में बीजेपी ने बिहार की जनता को मुफ्त कोरोना वैक्सीन देने का वादा किया था। जिसको लेकर विपक्षी पार्टी  भारतीय जनता पार्टी पे हमलावर हो गयी थी। और मामला इतना बढ़ गया कि विपक्ष ने इसकी शिकायत निर्वाचन आयोग से की थी। इसपर निर्वाचन आयोग ने जवाब देते हुए कहा है कि चुनावी घोसणापत्र में बिहार के लोगों से मुफ्त कोविड-19 वैक्सीन का वादा करना आदर्श आचार संहिता का उल्लंघन नहीं है।

निर्वाचन आयोग ने शनिवार को बीजेपी द्वारा बिहार विधानसभा चुनावों के लिए जारी घोषणापत्र में मुफ्त कोरोना वैक्सीन मुहैया कराने के वादे को आदर्श आचार संहिता का उल्लंघन नहीं बताया है। आरटीआई कार्यकर्ता साकेत गोखले द्वारा दर्ज कराये गए शिकायत पर जवाब देते हुए निर्वाचन आयोग ने कहा कि मामले में आचार संहिता के प्रावधानों का उल्लंघन नहीं किया किया जा रहा है। साकेत गोखले द्वारा शिकायत में दावा किया गया है कि यह वादा भेदभाव है और चुनाव के दौरान केंद्र सरकार द्वारा सत्ता का दुरूपयोग है।

बता दें कि क्लीनचिट आरटीआई कार्यकर्ता साकेत गोखले की याचिका के जवाब में आयी है। याचिका में साकेत गोखले ने आरोप लगाया था कि इस तरह की घोषणा करना केंद्र सरकार की शक्तियों का घोर उल्लंघन है एवं मतदाताओं को गुमराह करने का प्रयास है।

जानकारी के अनुसार, निर्वाचन आयोग ने आदर्श आचार चुनाव संहिता के भाग आठ में निहित चुनाव घोषणापत्रों के लिए कुछ दिशानिर्देश का हवाला देते हुए बताया कि मुफ्त वैक्सीन का वादा आचार संहिता का उल्लंघन नहीं हैं। राजद, कांग्रेस, शिवसेना, समाजवादी पार्टी, और नेशनल कांफ्रेंस की ओर से बिहार के लिए मुफ्त कोरोना वैक्सीन मुहैया कराने वाले बीजेपी के वाडे पर सवाल उठाया गया था। इन सब का कहना है कि बीजेपी मामले की राजनीतिकरण करने में जुटी है।

वहीँ, कांग्रेस नेता राहुल गाँधी ने बीजेपी को आड़े हाथों लेते हुए कहा कि राज्यवर चुनावों से यह पता चल सकेगा कि किस राज्य को कब वैक्सीन उपलब्ध होगा। इस महीने के शुरुआत में केंद्रीय वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने भाजपा का घोषणा पत्र जारी किया था जिसमें मुफ्त कोविड-19 वैक्सीन उपलब्ध कराने का वादा किया है।

उल्लेखनीय है कि विपक्षी पार्टियों ने मुफ्त कोरोना वैक्सीन को लेकर बीजेपी के वादे पर हमलावर रुख अपनाते हुए निर्वाचन आयोग से कार्यवाई की मांग करते हुए आरोप लगाया था कि सत्तारूढ़ पार्टी राजनीतिक लाभ के लिए महामारी का इस्तेमाल कर रही है।

=>
LIVE TV