बारिश से किसानों के चेहरे खिले कहा- ‘पानी नहीं अमृत की वर्षा हुई है’!

रिपोर्ट – काशीनाथ

वाराणसी :  बारिश होते ही खेत पानी से लबालब डूब गए हैं लेकिन किसानों के चेहरे खिल उठे हैं | किसानों का कहना है कि पानी की नहीं अमृत की वर्षा हुई है |

दरअसल, 4-5 दिनों में ज़बरदस्त बारिश ने बनारस और आसपास के जिलों में खेती के लिए माहौल बना दिया है | किसान प्रफुल्लित हैं और उनका कहना है कि समय से बारिश आई जिससे चना, जौ, बाजरा और धान की खेती के लिए खेत तैयार हो गए हैं | फसल अच्छी होने की उम्मीद है |

 

मां ने शराब पीने से किया मना, तो कलयुगी बेटे ने पेट्रोल डालकर मां को ही आग लगा दी !

 

जहां बारिश के बाद किसान उत्साहित हैं वहीं उनकी शिकायत भी है कि ब्लॉक से पता नहीं चलता कि कब बीज आये और बंट गए | दरअसल, यूपी सरकार किसानों के लिए धान इत्यादि बीज वितरित कराती है |

लेकिन ब्लॉक से सही तरीके से बीज नहीं बांटा जाता | कुछ दिनों बाद पता चलता है कि बीज आया था और बंट गया | फिलहाल बारिश से किसानों में खुशी और उत्साह है | उम्मीद है कि इसबार धान, जौ, बाजरा और चने की फसल अच्छी होगी |

 

=>
LIVE TV