बंगाल की खाड़ी में कम दबाव का क्षेत्र बनने से ओड़िशा में हुई जबरदस्त बरसात

बंगाल की खाड़ी में कम दबाव का क्षेत्र बनने से ओड़िशा में बुधवार को जबरदस्त बरसात हुई है, जिससे राज्य के अलग क्षेत्रों में बाढ़ की आशंका पैदा हो गई है. बरसात  के वजह से राज के निचले क्षेत्र डूब गए हैं, सड़क संपर्क टूट गया है और कम से कम दो लोगों की मृत्यु हो गयी है . अफसरों ने इसकी सूचना दी है. विशेष राहत आयुक्त पी के जेना ने बताया कि मंगलवार से राज्य के सभी तीस जिलों में विभिन्न-विभिन्न  तीव्रता की बरसात हो रही है. राज्य के 9 डिस्ट्रिक्स में भारी बरसात हुई जिसके परिणामस्वरूप कई निचले क्षेत्र में जल जमाव हो गया है.  

राज्य में बीते चौबीस घंटे में प्रातः 9 बजे तक औसतन 76.6 मिमी बरसात दर्ज की गयी है जबकि 9 डिस्ट्रिक्स में यह आंकड़ा 100 मिमी से ज्यादा था. इसी अवधि में राज्य में 4 प्रखंडों में औसतन 200 मिमी से ज्यादा बरसात हुई है . भुवनेश्वर एवं कटक में क्रमश: 92 मिमी एवं 77 मिमी बरसात दर्ज हुई है. जेना ने आगे बताया है कि राज्य के केंद्रपाड़ा, मयूरभंज, क्योंझर एवं जगतसिंहपुर जैसे डिस्ट्रिक्स में कई निचले क्षेत्र पानी में डूब गये हैं . इनमें धान के खेत एवं सड़क भी शामिल हैं. पानी निकालने के लिये स्टेप उठाए जा रहे हैं . जेना ने आगे बताया कि मयूरभंज डिस्ट्रिक्ट के सुकुरीली क्षेत्र के महुआसूली गांव में एक दीवार के गिर जाने की घटना में 62 वर्ष के एक व्यक्ति की मृत्यु हो गई. दूसरी तरफ  पुलिस ने बताया कि मयूरभंज डिस्ट्रिक्ट में एक ट्रक के पलटने की घटना में चालक की मृत्यु हो गई.  

बता दें की इस दौरान मौसम डिपार्टमेंट ने सुंदरगढ़, सम्बलपुर,सोनपुर, बाड़गढ़, बोलनगीर, झारसुगुड़ा, देवगढ़ एवं कालाहांडी डिस्ट्रिक्स में रेड अलर्ट जारी किया है जहां गुरुवार तक भारी से बहुत भारी बरसात हो सकती है . डिपार्टमेंट ने पुरी, खुर्दा, अंगलु, नुआपाड़ा, नबरंगपुर, क्योंझर, ढेंकनाल, मयूरभंज एवं कंधमाल डिस्ट्रिक्स के लिए ‘आरेंज’ चेतावनी जारी कर दी है जहां कुछ जगहों पर भारी से बहुत भारी बरसात हो सकती है .  

=>
LIVE TV