प्रेरक-प्रसंग: सच्चा प्यार

एक बार की बात है कि एक लड़की ने एक बुजुर्ग से पूछा कि मैंने सुना है कि सच्चा प्यार कम ही लोगों को नसीब होता है। ऐसा क्यों होता है? क्या यह बात सच है?

सच्चा प्यार

बुजुर्ग ने कहा कि मैं बताता हूं, लेकिन पहले तुम एक काम करो। कल तुम सामने लगे बगीचे से एक फूल, जो तुम्हें सबसे सुन्दर लगे, तोड़कर ले आना।

लड़की दूसरे दिन वापस आई और बोली कि मैंने कई फूल देखे, एक बहुत अच्छा भी लगा लेकिन मैंने उसे नहीं तोड़ा। सोचा, आगे और देख लूं, कोई उससे भी सुन्दर दिख जाए तो। लेकिन आगे कोई पसंद ही नहीं आया। फिर सोचा कि वापस जाकर उसे ही तोड़ लूं, लेकिन जब मैं वहां पहुंची, तब तक उस फूल को कोई और ले जा चुका था।

तब बुजुर्ग ने कहा कि यही प्यार की हकीकत है, जो हमारे सामने होता है हमें उसकी कदर नहीं होती और जब हम वापस लौटते हैं तो वह हमें वहां नहीं मिलता।

शिक्षा: कोई भी चीज खराब नहीं होती. हमें बस उनकी कद्र करनी आनी चाहिए.

=>
LIVE TV