प्रधानमंत्री मोदी की दो जन्मतिथियों पर बवाल

Narendra-Modi-003_5722910f28b5eएजेंसी/ नई दिल्ली : इन दिनों प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की शैक्षणिक योग्यता को लेकर विवाद किया जा रहा है। सूचना के अधिकार के माध्यम से प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की शैक्षणिक योग्यता को लेकर किए जा रहे सवालों के बीच कांग्रेस ने आरोप लगाए हैं कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की अंकसूचियों में दो जन्मतिथियां अंकित हैं। इस मामले में  पहले तो गुजरात विश्वविद्यालय ने जानकारी देने से ही इन्कार कर दिया था लेकिन बाद में जानकारी दी गई। जिसके तहत गुजरात विश्वविद्यालय द्वारा प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की स्नातकोत्तर उपाधि की जानकारी दी गई।

कांग्रेस के वरिष्ठ नेता शक्तिसिंह गोहिल ने संवाददाताओं को कहा कि गुजरात विश्वविद्यालय के अंतर्गत आने वाले एमएन काॅलेज के छात्र के तौर पर मोदी का नाम शामिल था। इसमें कक्षा 12 में उनका विषय प्री साईंस दिया गया था। यहाँ छात्र पंजीयक में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की जन्मतिथि 29 अगस्त 1949 दर्शाई गई है।

उनके द्वारा दायर किए गए चुनावी हलफनामे में उनकी जन्मतिथि नहीं दर्शाई गई। इसमें उनकी उम्र का उल्लेख किया गया है। उनकी औपचारिक जन्म तिथ 17 सितंबर 1950 बताई गई है। स्कूल के रजिस्टर में उनका नाम नरेंद्र कुमार दामोदरदास मोदी बताया गया है। इस मामले में सवाल उठाते हुए कांग्रेस नेता शक्तिसिंह गोहिल ने कहा है कि आखिर अलग-अलग जन्मतिथि का उल्लेख क्यों किया गया है। अलग-अलग जन्मतिथि के पीछे कारण क्या है? उनके पासपोर्ट या पैन कार्ड और अन्य दस्तावेजों में उनकी जन्मतिथि क्या है?

=>
LIVE TV