पुलिस महकमे में आज से इतिहास हो जायेगी, थ्री नॉट थ्री रायफल!

REPORT-UMESH MISHRA

लखनऊः यूपी पुलिस का 70 साल पुराना हथियार थ्री नॉट थ्री रायफल शुक्रवार से इतिहास हो जायेगी। शासन के इसके प्रयोग पर पाबंदी लगाने से थानों में पुलिस कर्मियों को इंसास और एसएलआर रायफल से लैस किया गया है।

प्रदेश में कानून, व्यवस्था को शुद्ध करने के लिए 63 हजार इंसाफ और 23 हजार एसएलआर रायफल थानों को दी जा चुकी हैं पुलिसकर्मियों को निर्देश दिए। गए हैं कि वे थ्री नॉट थ्री का प्रयोग न करें अगर किसी थाने पर इसका इस्तेमाल होता।

मिला तो संबंधित थाने बाद जिले के पुलिस लाईन के आरआई के खिलाफ कार्रवाई होगी एडीजी लॉजिस्टिक विजय कुमार मौर्य अपर मुख्य सचिव को बताया कि सिपाही की चल रही भर्ती प्रक्रिया को देखते हुए 8000 इंसास रायफल रिजर्व में गयी हैं। इसके अलावा आठ हजार और इंसास राइफल हुआ दस हजार नौ एमएम पिस्टल खरीदने के लिए प्रस्ताव शासन को भेजा जा रहा है।

पहले विश्व युद्ध का अत्याधुनिक हथियार थ्री नॉट थ्री रायफल

थ्री नॉट थ्री का सबसे पहले इस्तेमाल उन्नीस सौ चौदह में पहले विश्व में हुआ था इसकी मारक क्षमता लगभग दो किलोमीटर थी यूपी पुलिस के पास या हथियार उन्नीस सौ पैंतालीस में आया इससे पहले मस्कट राइफल चार सौ दस का प्रयोग होता था।

अस्सी के दशक में एसएलआर पुलिस को मिली उन्नीस सौ निन्यानवे में कारगिल युद्ध के दौरान इंसास रायफल कारगर साबित हुई थी अब सत्तर साल पुराने असलहे थ्री नॉट थ्री के प्रयोग पर पूरी तरह से पाबंदी लगा दी गई है।

प्राधिकरण से आदिवासी क्षेत्रों के विकास में आएगी तेजीः भूपेश बघेल

इसे आरआई के यहाँ जमा कराया जाएगा और फिर सख्त फैक्ट्री में इसे नष्ट करा दिया जायगा शासन ने लगाई पाबंदी बदले में थानो को अत्याधुनिक असलहों से किया गया लैस प्रतिबंधित हथियार के प्रयोग पर होगी कार्रवाई।

=>
LIVE TV