पुलिसकर्मी ने राष्ट्रभक्ति जज्बा दिखाते हुए भीषण बाढ़ में थाना परिसर में तिरंगा फहराकर दी सलामी….

उत्तर प्रदेश पुलिस के जवान अपने कर्तव्य की खातिर कुछ भी कर गुजरने को तैयार रहते हैं। शायद इसी कारण बाढ़ का पानी भी इनका हौसला नहीं डिगा सका और घुटनों पर पानी में खड़े होकर देश के 74वें स्वतंत्रता दिवस के अवसर पर तिरंगे को सलामी दी। आज यह गौरवशाली पल बहराइच जिले के बौंडी थाना में देखने को मिला।

बहराइच का बौंडी थाना पानी में डूबा हुआ है। चारों तरफ पानी ही पानी नजर आ रहा है। इसके बावजूद इस थाने में तैनात समस्त पुलिसकर्मी अपने सभी दायित्वों का बड़े ही अच्छे ढंग से निर्वहन कर रहे हैं।

बहराइच के बौंडी थाना प्रांगण में 20-25 पुलिसकॢमयों ने राष्ट्रभक्ति व जज्बा दिखाते हुए भीषण बाढ़ में थाना परिसर में तिरंगा फहराकर सलामी दी। घुटने-घुटने तक भरा बाढ़ का पानी भी राष्ट्रीय पर्व के जोश-ओ-जुनून को नहीं डिगा सका। यहां बाढ़ के पानी में ही खड़े होकर प्रभारी निरीक्षक थाना बौंडी सुभाषचंद्र सिंह के अगुवाई में तिरंगा फहराया गया। उसके बाद तिरंगे को सलामी दी।

प्रभारी निरीक्षक सुभाषचंद्र सिंह ने बताया कि घाघरा नदी के बाढ़ की वजह से थाना परिसर में दो फीट पानी भरा हुआ है। बावजूद इसके समस्त पुलिसकर्मी  ने स्वतंत्रता दिवस के पर्व पर पूरे सम्मान के साथ तिरंगा फहराया गया। तिरंगे की शान के लिए लाखों स्वतंत्रता संग्राम सेनानियों ने अपने प्राणों की आहुति दे डाली थी तब जाकर के हमको आजादी का यह समय मिला। ऐसे में तिरंगे की आन बान शान की जिम्मेदारी हम सभी के पास है।

महिला आरक्षी अर्चना यादव ने बताया कि यहां तो घुटनों तक पानी था, अगर गले तक पानी होता तब भी हम तिरंगे के सम्मान में किंचित मात्र जान की परवाह न करते हुए ध्वजारोहण करते। महिला आरक्षी सोनी ने बताया सियाचिन पर माइनस डिग्री सेल्सियस में भी हमारे जवान तिरंगे को फहराते हैं और सलामी देते हैं। देश की सीमाओं पर हमारे जवान तिरंगे के सम्मान के लिए अपनी जान गवा देते हैं। हमें उनसे प्रेरणा मिलती है। आंधी हो या तूफान हो, बाढ़ हो या भूकंप तिरंगे के सम्मान से कोई समझौता नहीं किया जा सकता। इससे पहले यहां 2017 में भी यही नजारा देखने को मिला था। 

=>
LIVE TV