पीआरवी पर हमला करने वाले तीनों आरोपितो को विधायक का फोन भी नहीं बचा सका जेल जाने से…

भाइयों के विवाद मेंं पीआरवी पर हमला करने वाले तीनों आरोपितो को जेल जाने से विधायक का फोन भी नहीं बचा सका। पुलिस पर हमला करने के मामले में पकड़े गए आरोपितों को जहां छोडने के लिए सीधे थाने में इंस्पेक्टर को फोन किया। वहीं मामला दर्ज कर चुके इंस्पेक्टर ने भी विधायक को दो टूक जवाब देते हुए कहा कि वह तो जेल जाएंगे। जिसके बाद पुलिस ने अपनी कार्रवाई करते हुए सभी को जेल भेज दिया।

मामला इज्ज्तनगर थाने के करमपुर चौधरी का है। जहां रहने वाले अशोक कुमार का अपने भाई से किसी बात को लेकर विवाद हो गया था। इसी दौरान भाई भतीजों ने उसके साथ मारपीट शुरू कर दी। जिसकी सूचना उसने पुलिस कंट्रोल रूम को दी थी। मामले की जानकारी मिलते ही मौके पर पीआरवी पहुंची थी। जहां पुलिस के सामने ही आरोपित अशोक के साथ मारपीट करने लगे।

इस पर जब पुलिस ने उन्हें समझाने का प्रयास किया तो उन्होंने पुलिस से अभद्रता करते हुए उस पर हमला बाेल दिया। यह देख पुलिस ने मामले की सूचना थाने को दी। जिसके बाद मौके पर पहुंची पुलिस फोर्स तीनाें आरोपित जानकी प्रसाद, अमनदीप और आर विनय को थाने ले आई। जहां पर दारोगा दिनेश कुमार ने आरोपितों के खिलाफ पुलिस पर हमला करने की तहरीर दी। पुलिस ने मुकदमा दर्ज कर सभी को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया।

थाने पहुंचे विधायक के गुर्गे

पुलिस पर हमला करने वाले आरोपिताें को छुड़ाने के लिए विधायक ने इंस्पेक्टर के के वर्मा को फोन किया कि आरोपितों को छोड़ दिया जाए। जिस पर उन्होंने विधायक को अवगत कराया कि तीनों के खिलाफ पुलिस पर हमला करने का मामला दर्ज करने की कार्रवाई कर दी गई है। जिसके बाद उन्हें जेल भेजा जा रहा है। इधर विधायक के गुर्गे भी थाने पहुंच गए। जहां उन्होंने आरोपिताें को छोडने की बात कहीं। पुलिस ने उन्हें बताया कि अब आरोपित छोडे़ नहीं जा सकते। वह जेल जाएंगे।  

=>
LIVE TV