पाक टीम में बढ़ी ‘कलह’ चीफ कोच ने मांगी माफी

india-vs-pakistan_landscape_1458408052एजेन्सी/जैसा कि हर बार होता है इस बार भी यही हुआ। पाक टीम के वर्ल्ड के शुरुआती चरण से विदाई के बाद टीम में बड़े स्तर पर विवाद बढ़ता दिख रहा है। कोच ने इस्तीफा देने की पेशकश की है लेकिन उससे पहले कप्तान के साथ-साथ टीम के कई बड़े खिलाड़ियों की आलोचना भी की है। 

पाकिस्तान क्रिकेट टीम के मुख्य कोच वकार यूनुस ने टी-20 वर्ल्ड कप में टीम के खराब प्रदर्शन के लिए देश से माफ करने की अपील की और साथ ही पद से इस्तीफा देने की पेशकश भी कर दी। वह दूसरी बार 2014 में पाक टीम के कोच बनाए गए थे।

पूर्व चैंपियन पाकिस्तान ग्रुप दौर से आगे बढ़ने में नाकाम रहा। चिर-प्रतिद्वंद्वी टीम इंडिया से भी उसे हार का सामना करना पड़ा। पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड (पीसीबी) के हेडक्वार्टर में आयोजित संवाददाता सम्मेलन में वकार ने कहा, “मैं हाथ जोड़कर देश से माफी मांगता हूं।”

पूर्व तेज गेंदबाज वकार का अनुबंध मई में समाप्त हो रहा है। उन्होंने कहा कि यदि टीम के हित में हो तो वह पद से इस्तीफा देने को तैयार हैं। यदि उनके पद छोड़ने से चीजें बेहतर होती हैं तो बिना देरी के पद छोड़ने को तैयार हैं। 2009 की चैंपियन टीम सुपर-10 चरण में केवल एक मैच बांग्लादेश के खिलाफ जीत सकी थी।टी-20 वर्ल्ड कप में पाकिस्तान टीम के लीग चरण से ही बाहर होने के कारण आलोचनाओं का दंश झेल रहे पाकिस्तान क्रिकेट टीम के मुख्य कोच वकार यूनुस ने टीम के खराब प्रदर्शन पर अपनी रिपोर्ट पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड (पीसीबी) के अध्यक्ष शहरयार खान को सौंप दी है। सूत्रों के अनुसार वकार ने अपनी कड़ी रिपोर्ट में कहा है कि ज्यादातर खिलाड़ी कोच की रणनीति को अमलीजामा पहनाने में नाकाम रहे।

बकौल वकार, “कुछ खिलाड़ी कड़ी मेहनत करने या कोचिंग स्टाफ के सुझावों को लागू करके उन्हें सहयोग देने के इच्छुक नहीं थे।” पाक कोच ने शाहिद अफरीदी की कप्तानी पर भी सवाल उठाए हैं। उन्होंने कहा कि मैदान या उसके बाहर अफरीदी के कुछ फैसले सही नहीं थे। कुल मिलाकर वकार ने अपनी रिपोर्ट में स्पष्ट तौर पर खिलाड़ियों और कप्तान के प्रदर्शन के सवाल खड़े कर दिए हैं। पीसीबी प्रमुख ने यह रिपोर्ट तथ्य अन्वेषण समिति को सौंप दी है, जिसका गठन एशिया कप और टी-20 वर्ल्ड के अलावा इंग्लैंड और न्यूजीलैंड के खिलाफ पूर्व की सीरीज में टीम के लचर प्रदर्शन की जांच के लिए किया गया है।

तथ्य अन्वेषण समिति की तीन दिवसीय बैठक मंगलवार से होगी। टेस्ट कप्तान मिस्बाह उल हक और सीनियर बल्लेबाज यूनुस खान की मौजूदगी वाली इस समिति को बोर्ड ने राष्ट्रीय टीम के कप्तान, मैनेजर और सीनियर खिलाड़ियों से मिलने और उनसे बात करने का अधिकार दिया है। समिति कप्तान, कोच और मैनेजर की रिपोर्ट का अध्ययन करने के बाद कोई फैसला करेगी।

सूत्रों का यह भी दावा है कि पाक टीम के कप्तान तथ्य अन्वेषण समिति के समक्ष पेश होने के लिए बुधवार को लाहौर रवाना होंगे। बहरहाल, पीसीबी प्रमुख शहरयार खान ने पहले ही एलान कर दिया है कि टी-20 वर्ल्ड कप के बाद अफरीदी टीम के कप्तान नहीं रहेंगे। ऐसे में उनका टीम में बना रहना भी मुश्किल हो सकता है।

=>
LIVE TV