नेक्स्ट स्टेप डांस ने शुरू किया सराहनीय कार्य, लड़कियों को सीखा रहीं यौन उत्पीड़न से बचने के तरीके !

रिपोर्ट – संजय पुण्डीर

हरिद्वार : क्या ये देश लड़कियों, औरतों के लिए खतरनाक हो चुका है? रोजाना बलात्कार और हिंसा की इतनी घटनाएं होती हैं कि आप हिलकर रह जाते हैं, या आप पर कोई फर्क ही नहीं पड़ता | अखबार पलटकर रख देते हैं | रिमोट से चैनल बदल देते हैं |

सिर्फ अफ़सोस कर रह जाते हैं और हादसे होते रहते हैं | दिल्ली ,जींद, पानीपत, फरीदाबाद- रोजाना शहर बदल जाते हैं | पीड़िता की उम्र बदल जाती है पर घटनाएँ  रौंगटे खड़े कर देती हैं  | देश में हर 14 मिनट में एक औरत यौन उत्पीड़न का शिकार होती है |

साल 2016 में कुल मिलाकर रेप के 38,947 मामले देश भर में दर्ज किए गए | कुल 66,544 औरतों को अगवा किया गया | ये वे मामले हैं जिन्हें पुलिसिया रिकॉर्ड में जगह मिलती है | कितने ही मामलों में लोग चुप रह जाते हैं- शर्म या डर से |

ये दोनों भाव इतने हावी हैं कि कहना ही क्या | ये इसी से समझा जा सकता है कि पिछले साल दिल्ली के एक रेप्यूटेडेड स्कूल में दसवीं की एक रेप विक्टिम स्टूडेंट को ग्याहरवीं में इसलिए दाखिला नहीं दिया गया |

क्योंकि इससे स्कूल की इमेज खराब हो सकती थी | आखिर कब तक हम चुप रहेंगे इसी को लेकर हरिद्वार में एक डांस ग्रुप ने लड़कियों को जुडो ,योग,जुम्बा ,डांस ,और शातिर लोगों के चेहरे पढ़ने के साथ-साथ लोगों टच करना कितना अहम हैं |

सिर्फ छूने मात्र से ही लोगों की मानसिकता को पहचानने की दिशा में कार्य किया जा रहा है ;–क्या लड़कियाँ इस कला से सुरक्षित रह पायँगी देखिये हमारी खास रिपोर्ट में :-

लड़कियों को मजबूत बनाने के लिए नेक्स्ट स्टेप डांस द्वारा सराहनीय कार्य कर रही नीलम ने बताया कि घटना-दुर्घटना पर हमारा कोई बस नहीं होता लेकिन सतर्कता, सावधानियां और होशियारी हमें कई विपरीत हालातों से बचा सकती हैं |

 

मर गए सारे रिश्ते ! 11 वर्षीय नाबालिग बच्ची के साथ पिता ने ही कर डाला कुकर्म, साथ ही दो और लोगों ने किया दुराचार !

 

बलात्कार की बढ़ती घटनाओं के मद्देनजर हर किशोरी, युवती और बड़ी उम्र की महिलाओं को कुछ आवश्यक सावधानियां अवश्य बरतनी चाहिए | कभी भी गुंडों से ना तो बहस करें ना ही उनके आगे बेचारी बने | घबराए नहीं |

अपने आप पर विश्वास रखें और चतुराई से परिस्थिति से निपटें | घोर संकट में भी बच निकलने का एक संकरा रास्ता हमेशा होता है | आपको उस रास्ते को पहचानने की जरूरत है | सावधानी के स्तर पर लड़की अपनी सुरक्षा अपने व्यवहार से कर सकती है | अपने को छुने देने का हक आप स्वयं तय करें |

जहां स्पर्श गलत लगे वहां तुरंत सबके बीच कहने का साहस रखें | डरे नहीं | आजकल सगे रिश्तों में भी कई तरह की भयावह घटनाएं घटित हो रही हैं | घर में भी आप सुरक्षित नहीं हैं| अत:घर में किसी रिश्ते को बिना मतलब के कहीं भी स्पर्श ना करने दें |

अपना मोबाइल हमेशा रिचार्ज रखिए | अपने कुछ करीबी लोगों को यह बता कर रखें कि कभी आपके पास मेरा कॉल आए और मैं कुछ ना बोल पा रही हूं तो समझ जाएं कि कोई मुश्किल है नशा करने वाले दोस्तों से दूरी रखें और स्वयं भी नशे से बचें | सुनसान   जगह पर सतर्क रहे और साथ में लाल मिर्च पाउडर स्प्रे साथ रखे  |

माँ अगर चाहें तो अपनी बच्ची को वो खुद इतना मजबूत बना सकती है कि उसके साथ इस तरह की घटना न घटे खुल कर बच्चियों को बताया जाये | जिससे उनको सही जानकारी छोटी उम्र से ही मिले |

क्योंकि बलात्कार करने वाला उम्र नहीं देखता  | इसी को लेकर समर कैंप में हरिद्वार में कुछ लड़कियों ने हिम्मत दिखाई और ये समझ लिया की जो व्यक्ति हमारे सामने है | उसकी निगाह कहाँ है और वो हमें किस तरह छू रहा है |

हमारी नीलम मेडम ने हमें स्पर्श का अंतर के साथ-साथ योग ,डांस ,जुम्बा ,जूडो कुंगफू आदि से हमें मजबूत बना दिया है और कुछ सावधानियां बताई हैं जिससे अब अगर हमें कोई ऐसा मिलेगा उसकी खेर नहीं |

हमारे देश में रेप की कुछ घटना ऐसी हुई हैं | जिन्होंने हमारे जमीर को झकझोर दिया है लेकिन सुबह होते ही हमारा जमीर कहीं गायब हो जाता है | खुल कर चर्चा करने से भी कतराते हैं | आज जरुरत है बच्चियों को बचाने की | अब देखना होगा की सख्त कानून के बावजूद घटनाओं में कितनी कमी आती है |

 

=>
LIVE TV