धर्मचक्र दिवस पर बोले पीएम मोदी- बौद्ध धर्म ने दिया अहिंसा और शांति का संदेश

पीएम मोदी ने आषाढ़ पूर्णिमा/गुरु पूर्णिमा के मौके पर भगवान बुद्ध के उपदेशों पर विशेष जोर देते हुए वीडियो संदेश जारी करते हुए युवाओं से बुद्ध के विचारों को अपनाने की बात कही। पीएम ने कहा कि देश मुश्किल हालात से गुजर रहा है। लेकिन चुनौतियों का सामना और समाधान गौतम बुद्ध के विचारों से किया जा सकता है।

शनिवार को राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने राष्ट्रपति भवन से धर्मचक्र दिवस का उद्घाटन किया। यह कार्यक्रम संस्कृति मंत्रालय की देखरेख में किया गया। आपको बता दें कि आज ही के दिन महात्मा बुद्ध ने अपने पांच शिष्यों को प्रथम उपदेश दिया था। धर्मचक्र कार्यक्रम को संबोधित करते हुए पीएम ने यह भी कहा कि भगवान बुद्ध की ओर से बताए गये 8 मार्ग कई समाज और राष्ट्र के लिए कल्याण का रास्ता दिखाते हैं। यह करुणा और दया के महत्व पर जोर डालता है।

पीएम ने कहा कि बौद्ध धर्म हमें तमाम तरह की शिक्षाएं देता है। वह हमें लोगों का आदर करना सिखाता है और शांति एवं अहिंसा के मार्ग पर प्रशस्त करता है। पीएम ने इस दौरान गौतम बुद्ध की ओर से सारनाथ में दिये गये उपदेश और बाद के दिनों में की गयी आशा और उद्देश्य की बात की। पीएम ने कहा कि इन दोनों के बीच मजबूत लिंक होता है। इसका कारण है कि आशा से ही उद्देश्य पैदा होता है।

=>
LIVE TV