देश में बिगड़ा रहेगा आगे का मौसम, मौसम विभाग ने आज से लेकर कुछ दिनों तक कई जगहों पर जारी किया अलर्ट

पिछले दो दिनों से बारिश में कुछ कमी देखी गई है, लेकिन मौसम छाए हुए हैं। मौसम विभाग की तरफ से हर दिन अलर्ट जारी किया जा रहा है। देश के कई इलाकों में भारी बारिश के बाद अब भी पानी भरा हुआ है और फिलहाल मौसम के ठीक होने के भी कोई आसार नहीं है। जिससे लोगों को और अधिक मुसीबत का सामना करना पड़ सकता है। पहले ही कोरोना महामारी के कारण लोगों के काम बंद पड़े और अब देशभर में हो रही भारी बारिश व भूस्खलन के कारण भी लोगों को हताहत होना पड़ रहा है। सोमवार के दिन भी कई जगहों पर बारिश के आसार है। इसके अलावा कुछ दिन बाद किन जगहों पर बारिश हो सकती है, इसको लेकर भी मौसम विभाग ने जानकारी दी है। 

भारत मौसम विज्ञान विभाग (आईएमडी) ने कहा कि दिल्ली और राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र के कुछ हिस्सों में सोमवार को हल्की बारिश या बूंदाबांदी जारी रह सकती है। कहा गया है कि अगले दो घंटों के दौरान दक्षिण-दिल्ली, दादरी और कोसली के इलाकों में बूंदा बांदी होगी। इसके अलावा बताया गया कि पलवल, बल्लभगढ़, फ़ारूखनगर, कोसली और दिल्ली व आसपास के इलाकों में अगले दो घंटों के दौरान हल्की बारिश या बूंदाबांदी होगी। इसमें कहा गया कि दिल्ली में अधिकतम तापमान 34.2 डिग्री और न्यूनतम तापमान 26.4 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया।

आईएमडी ने बताया कि बंगाल की खाड़ी के ऊपर कम दबाव के क्षेत्र बनने के कारण मध्य और पश्चिमी क्षेत्रों में मानसून की बारिश तेज हो गई है। इसके प्रभाव के तहत, दक्षिण-पश्चिम राजस्थान और गुजरात में आज अलग-थलग भारी भारी वर्षा होगी। कहा गया कि दक्षिण 24 परगना, पूर्व और पश्चिम मिदनापुर, झारग्राम, पुरुलिया और बांकुरा जिलों में भारी वर्षा होने की संभावना है, जो मंगलवार से और तेज हो जाएगी।

राजकोट(गुजरात): भारी बारिश के बाद मोतीसर बांध के 14 द्वार पानी छोड़ने के लिए खोले गए।

सिलबोटी नदी के बह जाने से, पश्चिम बंगाल के पथरडंगा क्षेत्र में कई गांव और धान के खेत प्रभावित हुए हैं, किसानों का कहना है कि उनके लिए और अन्य स्थानीय लोगों के लिए समस्याएं है। इसके अलावा, क्षेत्र में एक पुल भी बह गया है। इसके कारण, बथुरा और मिदनापुर जिलों के बीच पतराडंगा-वेलैडीहा मार्ग के माध्यम से संचार प्रभावित हुआ है।

इसके अलावा, जम्मू और कश्मीर, गिलगित, बाल्टिस्तान, मुजफ्फराबाद और लद्दाख और हिमाचल प्रदेश में अलग-अलग स्थानों पर ओले गिरने के साथ काफी व्यापक वर्षा होने की संभावना है और उत्तराखंड में 25 से 28 अगस्त के दौरान भारी से बहुत भारी बारिश होने की संभावना है।

देश के उत्तरी भाग में, पंजाब, हरियाणा, चंडीगढ़, दिल्ली और उत्तर प्रदेश में 26 और 27 अगस्त को अलग-अलग जगहों पर भारी वर्षा होने की संभावना है। उत्तर प्रदेश में, अयोध्या के रुदौली तहसील के गांवों में सरयू नदी में जल स्तर में वृद्धि के बाद बाढ़ आ गई है, जिससे ग्रामीणों में गंभीर संकट पैदा हो गया है। कैथी मझ गांव के मंजू नाम के एक स्थानीय व्यक्ति ने कहा, ‘हम पिछले दो महीनों से बहुत परेशानी का सामना कर रहे हैं। बाढ़ के कारण हमारे घर और कृषि भूमि को नुकसान पहुंचा है। जल स्तर बढ़ता और घटता रहता है।’

=>
LIVE TV