दीवानी न्यायालय परिसर में कोरोना पाजीटिव व्यक्ति पाए जाने के बाद दो दिन के लिए किया गया बंद…

दीवानी न्यायालय परिसर, थाना कैंट में कोरोना पाजीटिव व्यक्ति पाया गया है जिसके फलस्वरूप कोरोना संक्रमण को फैलने से रोकने के लिए दीवानी न्यायालय परिसर क्षेत्र को कंटेनमेंट जोन घोषित करते हुए 18 एवं 19 अगस्त के लिए पूरी तरह सील किया जाता है। इस अवधि में परिसर में आम जन मानस का आवागमन पूरी तरह प्रतिबंधित रहेगा। उक्त कंटेनमेंट जोन को सैनिटाइज कराने के लिए बृजेश सागर को इंसीडेंट आफिसर के रूप में नियुक्त किया गया है। यह जानकारी एसडीएम सदर ने दी।

दिल्ली में इलाजरत हैं शहर के कोरोना संक्रमित 15 डाॅक्टर

इस समय शहर के 15 कोरोना संक्रमित डाॅक्टरों का दिल्ली के अलग-अलग अस्पतालों में इलाज चल रहा है। सभी डाॅक्टर प्राइवेट प्रेक्टिसनर हैं। उन्हें स्थिति गंभीर होने पर रेफर किया गया था। कई डाॅक्टरों की प्लाज्मा थेरेपी भी हो चुकी है। अधिकांश की स्थिति खतरे से बाहर बताई जा रही है। जानकारी के मुताबिक ज्यादातर डाॅक्टरों के परिजन भी संक्रमित हैं। उनका भी इलाज दिल्ली के अलग-अलग निजी अस्पतालों में चल रहा है।

शहर में बड़ी संख्या में डाॅक्टर भी संक्रमित हो चुके हैं। डाॅक्टरों के संक्रमित होने का सिलसिला बीआरडी मेडिकल काॅलेज से शुरू हुआ था। काॅलेज के अबतक 25 डाॅक्टर संक्रमित हो चुके हैं, जिनमें कई तो ठीक होकर दोबारा मरीजों की सेवा में जुट गए हैं। संक्रमित होने वाले प्राइवेट डाॅक्टरों की संख्या तीन दर्जन के करीब पहुंच चुकी है। ज्यादातर डाॅक्टरों के परिजन भी संक्रमित हुए हैं। बहुत से डाॅक्टर तो ठीक भी चुके हैं लेकिन जिन्हें पहले से डायबिटीज, ब्लड प्रेशर जैसी बीमारियों की शिकायत रही है उन्होंने दिल्ली की राह पकड़ ली। करीब 20 डाॅक्टर दिल्ली के निजी अस्पताल में इलाज करा रहे थे, जिनमें से एक की दिल्ली में मौत भी हो गई थी। एक डाॅक्टर की पत्नी ने भी इलाज के दौरान दिल्ली में दम तोड़ा था। चार डाॅक्टर ठीक हो चुके हैं लेकिन 15 का इलाज अभी भी चल रहा है।

=>
LIVE TV