‘दिलवाले दुल्हनिया ले जाएंगे’ पूरे हुए 25 साल, जानें क्यों टॉवल में डांस के लिए नहीं तैयार थी काजोल

यूं तो बॉलीवुड में रोमांस पर इतनी सारी सुपरहिट फिल्में बनी हैं कि अगर किसी एक फिल्म को पसंद करना हो तो ये दर्शकों के लिए बड़ी दुविधा का विषय हो जाए. मगर इसके बावजूद कुछ रोमांटिक फिल्में तो ऐसी रही हैं जिन्होंने दर्शकों के दिल में जबरदस्त जगह बनाई है. इन रोमांटिक फिल्मों का दमखम ही है कि इन्हें देश के बाहर भी बेशुमार प्यार मिलता आया है. ऐसी ही एक फिल्म है शाहरुख खान और काजोल की दिलवाले दुल्हनिया ले जाएंगे.

फिल्म को दर्शकों द्वारा खूब पसंद किया गया. फिल्म ने 20 अक्टूबर, 2020 को रिलीज के 25 साल पूरे कर लिए हैं. इस खास मौके पर आइए जानते हैं फिल्म से जुड़ी कुछ रोचक बातें.

किरण खेर ने दिया था फिल्म का टाइटल

फिल्म दिलवाले दुल्हनिया ले जाएंगे का टाइटल अनुपम खेर की पत्नी किरण खेर ने दिया था. करण जौहर और आदित्य चोपड़ा के दिमाग में फिल्म के टाइटल का बिल्कुल भी अंदाजा नहीं था. किरण ने शशि कपूर की एक पुरानी फिल्म के गाने ”ले जाएंगे ले जाएंगे” से ये टाइटल निकाला था. 

अनुपम खेर चाहते थे अमरीश पुरी वाला रोल

फिल्म में अनुपम खेर की इच्छा थी कि वे अमरीश पुरी वाला रोल प्ले करें. इसके लिए उन्होंने आदित्य चोपड़ा से बात भी की. मगर आदित्य ने मना कर दिया. अनुपम को लगता था कि अमरीश पुरी वाला रोल बड़ा है और वे ये रोल प्ले कर सकते हैं.

जब काजोल टॉवल में शूट करने को लेकर हुईं असहज

काजोल ने एक इंटरव्यू में बताया था कि उन्हें मेरे ख्वाबों में जो आए गाने की शूटिंग करने में शुरुआत में काफी असहज लगा. उन्हें सिर्फ एक टॉवल में शूट करने का आइडिया पसंद नहीं आया था. मगर जब आदित्य ने उन्हें मनाया तब जाकर वे किसी तरह से मानीं और शूटिंग की. गाना सुपरहिट रहा था और काजोल की भी काफी प्रशंसा की गई थी. ढाई दशक बाद भी लड़कियां इस गाने पर परफॉर्म करना पसंद करती हैं.

फिल्म का आइकॉनिक जैकेट

फिल्म में आइकॉनिक लेदर जैकेट से जुड़ा भी एक किस्सा है. दरअसल ये जैकेट उदय चोपड़ा की थी. उन्होंने इसे 400 डॉलर में कैलिफॉर्निया स्थित हार्ले डेविडसन के स्टोर से खरीदा था. 

जब महान गीतकार आनंद बख्शी के छूट गए पसीने

फिल्म का गाना मेरे ख्वाबों में जो आए एक ट्रेंड सेटर गाना माना जाता है. गाने के बोल लिखे थे लिजेंड्री सॉन्ग राइटर आनंद बख्शी ने. मगर इस गाने को लिखने के लिए उन्हें काफी मशक्कत करनी पड़ी थी. कुल 23 बार इस गाने को आदित्य ने रिजेक्ट किया था और 24वीं बार में ये गाना फाइनल किया गया था जो बाद में सुपर-डुपर हिट साबित हुआ था.

जब शाहरुख खान ने काजोल को गिराया

फिल्म के गाने रुक जा ए दिल दीवाने में एक सीन आता है जहां पर शाहरुख खान अंत में काजोल को गिरा देते हैं. दरअसल ऐसा करने के लिए उन्हें आदित्य चोपड़ा ने ही कहा था ताकि कैमरे में काजोल के रियल एक्सप्रेशन्स शूट किए जा सकें.

जब शूटिंग के दौरान गांव वालों ने पूछा मेरी जमीन पर शूटिंग कैसे की? 

फिल्म के पॉपुलर गाने तुझे देखा तो ये जाना सनम की शूटिंग हरियाणा के एक गांव में हुई थी. शूटिंग के लिए पंचायत की परमीशन लेनी पड़ी थी. मगर इतना काफी नहीं था. इसके बाद भी गांव वाले गुस्सा गए थे. उन्होंने पूछा था कि मेरी जमीन पर शूटिंग कैसे की? फिर शाहरुख ने उन्हें हरियाणवी में मनाने की कोशिश की तब जाकर बात बन पाई थी.

अनुपम खेर ने लिया अपने रियल एन्सेस्टर्स का नाम

फिल्म में एक सीन होता है जब शाहरुख के किरदार राज को अपने पिता अनुपम खेर को ये बताना होता है कि वो कॉलेज में फिर से फेल हो गया है. इस दौरान अनुपम खेर अपने बेटे का हौसला बढ़ाते हैं और उन्हें बताते हैं कि कैसे उनके पूर्वजों ने भी एग्जाम में फेल किया था. इस दौरान अनुमप खेर ने अपने असली दादा-परदादा का नाम लिया था.

=>
LIVE TV