तंज़िल अहमद कांड को लेकर उठे बड़े सवाल

images (16)बड़े सवाल ।

क्यूँ चार दिन से प्रॉपटी का केस बता रही थी पुलिस ?
पुलिस क्यूँ बोल रही थी अपने ही क़ातिल ?
पुलिस क्यूँ बोल रही थी के बिजनौर के ही क़ातिल?
गोली एक या दो क्यूँ नही मारी 24 क्यूँ मारी गई ?
गोली उन के बच्चों को क्यूँ नही मारी गई ?
क़ातिल को बिना ट्रेस किये क्यूँ उठाया गया ?
उन की बेटी ने बताया था fz गाड़ी और पुलिस ने की पल्सर गिरफ़्तार ?

उल्टा फसी पुलिस ।
 बिजनौर पहुंचे डीजीपी जावीद अहमद ने सारी अटकलों पर विराम लगाते हुए शुक्रवार को साफ कर दिया कि एनआईए अफसर तंजील हत्याकांड में अभी तक किसी को गिरफ्तार नहीं किया गया है। उन्होंने कहा जांच जारी है। अभी समय लगेगा। सच सामने लाएंगे। डीजीपी शुक्रवार पूर्वाह्न 11.30 बजे के लगभग हेलीकॉप्टर से बिजनौर पुलिस लाइन पहुंचे।
उनके साथ यूपीएटीएस के आईजी असीम अरुण भी थे। पुलिस लाइन में एनआईए, एटीएस, एसटीएफ के अधिकारी मौजूद थे। बंद कमरे में सभी उच्चाधिकारियों की लगभग एक घंटे से ज्यादा बैठक चलती रही। इस दौरान मीडिया का जमावड़ा लगा रहा। इसी दौरान आईजीएटीएस असीम अरुण के हेलीकॉप्टर से कहीं उड़ गए।
इसी बीच, डीएसपी तंजील के रिश्तेदारों से डीजीपी ने मुलाकात बातचीत की। उम्मीद थी कि इसके बाद प्रेस कान्फ्रेंस में डीजीपी हत्याकांड का पर्दाफाश कर देंगे। कुछ देर बाद डीजीपी जावीद अहमद पत्रकारों से मुखातिब हुए। उम्मीद से परे उन्होंने साफ कर दिया कि तंजील हत्याकांड की जांच जारी है। अभी तक किसी को गिरफ्तार नहीं किया जा सका है। 100 से अधिक लोगों से पूछताछ हो चुकी है। पत्रकारों के सवालों पर नो कमेंट कहते हुए डीजीपी ने प्रेस कान्फ्रेंस खत्म कर दी।
 

=>
LIVE TV