डेंगू और कैंसर जैसी खतरनाक बीमारियों से बचाए ये आयुर्वेद का अमृत बेल

 

गिलोय बेल के रूप में पाई जाती है और इसके पत्ते पान के पत्तों की तरह दिखाई देते हैं. आयुर्वेद में इसे अमृत बेल के नाम से भी जाना जाता है. वही इसका सेवन करने से किसी भी प्रकार की बीमारी पास नहीं आ सकती है. डेंगू और कैंसर जैसी खतरनाक बीमारियों का इलाज भी गिलोय से संभव है. गिलोय में बरबेरिम, ग्लुकोसाइड और गिलाइन जैसे आवश्यक और अत्यंत लाभकारी रासायनिक तत्व पाए जाते हैं.

giloy

इस तरह फायदेमंद है गिलोय

 

यह पाचन शक्ति को दुरुस्त करने तथा आंत संबंधी समस्याओं से निजात दिलाने में भी काफी मदद करता है. आधा ग्राम गिलोय पाउडर को गुड़ के साथ खाने से कब्ज से राहत मिलती है. गिलोय डायबिटीज के लिए भी बेहद फायदेमंद है। खासकर टाइप 2 डायबिटीज में यह काफी असरदार लाभ देने वाला होता है. गिलोय का जूस पीने से हाई ब्लड शुगर को कम करने में सहायता मिलती है.

विषाक्त पदार्थों को निकालता है बाहर

‘पाइरेट्स ऑफ द कैरेबियन’ फिल्म फेम जॉनी ने कहा- “बीवी उन्हें पिटती है, लिया तलाक़ !…  

गिलोय कई तरह की बीमारियों से बचाने के अलावा आपकी कोशिकाओं को भी सेहतमंद रखता है। गिलोय प्रतिरक्षा तंत्र को मजबूत रखने का काम करता है, जिससे हमें बीमारियां फैलाने वाले संक्रमणों से सुरक्षा करने में मदद मिलती है. यह शरीर से विषाक्त पदार्थों को भी बाहर निकालता है, रक्त को शुद्ध करता है तथा तमाम तरह के बैक्टीरिया से लड़ने में सहायता करता है। दिल संबंधी समस्याओं से निजात दिलाने तथा प्रजनन क्षमता बढ़ाने में भी यह अपना अहम योगदान देता है.

 

डेंगू और कैंसर जैसी खतरनाक बीमारियों से बचाए ये आयुर्वेद का अमृत बेल

 

गिलोय बेल के रूप में पाई जाती है और इसके पत्ते पान के पत्तों की तरह दिखाई देते हैं. आयुर्वेद में इसे अमृत बेल के नाम से भी जाना जाता है. वही इसका सेवन करने से किसी भी प्रकार की बीमारी पास नहीं आ सकती है. डेंगू और कैंसर जैसी खतरनाक बीमारियों का इलाज भी गिलोय से संभव है. गिलोय में बरबेरिम, ग्लुकोसाइड और गिलाइन जैसे आवश्यक और अत्यंत लाभकारी रासायनिक तत्व पाए जाते हैं.

इस तरह फायदेमंद है गिलोय

इस चुनाव अगर ‘हाथ’ में होती ‘झाड़ू’ तो क्या होते नतीजे ?…

यह पाचन शक्ति को दुरुस्त करने तथा आंत संबंधी समस्याओं से निजात दिलाने में भी काफी मदद करता है. आधा ग्राम गिलोय पाउडर को गुड़ के साथ खाने से कब्ज से राहत मिलती है. गिलोय डायबिटीज के लिए भी बेहद फायदेमंद है। खासकर टाइप 2 डायबिटीज में यह काफी असरदार लाभ देने वाला होता है. गिलोय का जूस पीने से हाई ब्लड शुगर को कम करने में सहायता मिलती है.

विषाक्त पदार्थों को निकालता है बाहर

 

गिलोय कई तरह की बीमारियों से बचाने के अलावा आपकी कोशिकाओं को भी सेहतमंद रखता है। गिलोय प्रतिरक्षा तंत्र को मजबूत रखने का काम करता है, जिससे हमें बीमारियां फैलाने वाले संक्रमणों से सुरक्षा करने में मदद मिलती है. यह शरीर से विषाक्त पदार्थों को भी बाहर निकालता है, रक्त को शुद्ध करता है तथा तमाम तरह के बैक्टीरिया से लड़ने में सहायता करता है। दिल संबंधी समस्याओं से निजात दिलाने तथा प्रजनन क्षमता बढ़ाने में भी यह अपना अहम योगदान देता है.

डेंगू और कैंसर जैसी खतरनाक बीमारियों से बचाए ये आयुर्वेद का अमृत बेल

जानिए कौन सा आईलाइनर बढ़ाएगा आपकी आंखों की सुंदरता

गिलोय बेल के रूप में पाई जाती है और इसके पत्ते पान के पत्तों की तरह दिखाई देते हैं. आयुर्वेद में इसे अमृत बेल के नाम से भी जाना जाता है. वही इसका सेवन करने से किसी भी प्रकार की बीमारी पास नहीं आ सकती है. डेंगू और कैंसर जैसी खतरनाक बीमारियों का इलाज भी गिलोय से संभव है. गिलोय में बरबेरिम, ग्लुकोसाइड और गिलाइन जैसे आवश्यक और अत्यंत लाभकारी रासायनिक तत्व पाए जाते हैं.

इस तरह फायदेमंद है गिलोय

 

यह पाचन शक्ति को दुरुस्त करने तथा आंत संबंधी समस्याओं से निजात दिलाने में भी काफी मदद करता है. आधा ग्राम गिलोय पाउडर को गुड़ के साथ खाने से कब्ज से राहत मिलती है. गिलोय डायबिटीज के लिए भी बेहद फायदेमंद है। खासकर टाइप 2 डायबिटीज में यह काफी असरदार लाभ देने वाला होता है. गिलोय का जूस पीने से हाई ब्लड शुगर को कम करने में सहायता मिलती है.

विषाक्त पदार्थों को निकालता है बाहर

 

गिलोय कई तरह की बीमारियों से बचाने के अलावा आपकी कोशिकाओं को भी सेहतमंद रखता है। गिलोय प्रतिरक्षा तंत्र को मजबूत रखने का काम करता है, जिससे हमें बीमारियां फैलाने वाले संक्रमणों से सुरक्षा करने में मदद मिलती है. यह शरीर से विषाक्त पदार्थों को भी बाहर निकालता है, रक्त को शुद्ध करता है तथा तमाम तरह के बैक्टीरिया से लड़ने में सहायता करता है। दिल संबंधी समस्याओं से निजात दिलाने तथा प्रजनन क्षमता बढ़ाने में भी यह अपना अहम योगदान देता है.

=>
LIVE TV