जेई(Japanese encephalitis) के वायरस मिलने से गोरखपुर में सनसनी, स्वाथ्य महकमे में मचा हड़कंप

रिपोर्ट-पंकज श्रीवास्तव/गोरखपुर

इंसेफ्लाइटिस के खिलाफ मुहिम चला रही योगी सरकार को एक बड़ा झटका लगा है। एक बार फिर सुवरो में खून में जेई के वायरस पाए जाने पर स्वाथ्य महकमे में हड़कंप मच गया है।

पूर्वांचल के मासूमो पर चार दसको से कहर बरपा रही इंसेफ्लाइटिस पर लगाम लगाने के लिए सूबे के मुखिया योगी आदित्यनाथ हर जतन करते नजर आ रहे है और चिकित्सको के प्रयास से इस बीमारी पर काफी हद तक लगाम भी लगी।

JE वायरस का खौफ

लेकिन  इंसेफ्लाइटिस का मुख्य कारण माने जाने वाले  सुवरो के खून में एक बार फिर इसके वायरस पाए जाने पर हड़कम्प मच गया है।इस बात का खुलासा हुआ प्रमुख सचिव स्वास्थ एवम परिवार कल्याण के बैठक जब उन्होंने कुशीनगर जिले के सीएमओ से इसका कारण पूछ लिया।

वही डॉ आरएन सिंह ने कहा कि मैंने बहुत पहले ही सुवरो को जेई का टीका लगवाने और सुअर बाड़े आबादी से दूर कराने की मांग उठाई थी लेकिन इसपर कुछ नही हुआ ऐसे में एक बार फिर वायरस मिलना सही नही है उनका कहना है कि सुवरो को जेई के टीके लगवाकर इस  जापानी इंसेफ्लाइटिस को रोका जा सकता है।

बाँदा में फांसी के फन्दे से लटका मिला अधेड़ का शव, हत्या की आशंका

वही गली मुहल्लो में खुलेआम सुवरो के घूमने से इलाकाई लोग भी सहमे है उनका कहना है कि बार बार शिकायत के बाद भी इसपर कोई कार्रवाई नही होती है।

फिलहाल सरकार इंसेफ्लाइटिस सहित अन्य जल जनित बीमारियों को रोकने के लिए संचारी रोग ,दस्तक अभियान चला रही है ऐसे में एक बार फिर जेई वायरसों का सक्रिय होना स्वस्थ महकमे के लिए चिंता का विषय हो सकता है।

=>
LIVE TV