कैसे रखें अपने पैसे का ख्याल, जिससे मिले बेहतर रिटर्न….तो अपनाएं ये आसान टिप्स…

कैलेंडर वर्ष 2018 ने आशावादी तरीके से शुरुआत की थी क्योंकि इक्विटी ने 2017 में बेहतर रिटर्न दिया था।

निफ्टी-50 इंडेक्स 2017 में 28 फीसदी बढ़ा था, जबकि निफ्टी मिड कैप-100 ने 47 फीसदी और निफ्टी स्मॉल कैप-250 इंडेक्स ने 57 फीसदी का रिटर्न दिया था।

मिड कैप मूल्यांकन संकेतों से पता चल रहा है कि एनएसई मिड कैप का पिछला प्राइस टु बुक (पीबी) निफ्टी की तुलना में पिछले एक दशक में उच्च स्तर पर रहा है।

कैसे रखें अपने पैसे का ख्याल

कैलेंडर वर्ष 2018 में निफ्टी-50 का रिटर्न 3 फीसदी रहा है। मिड कैप ने 15 फीसदी का घाटा दिया।

स्मॉल कैप इंडेक्स ने 27 फीसदी की गिरावट दिखाई। 2018 से जो सीख मिली है, वह मूल्यांकन को लेकर है।

नायडू के धरने पर पहुंचे शिवसेना प्रमुख ठाकरे, बीजेपी के सामने गठबंधन के लिए राखी ये शर्त…

यदि आप महंगे मूल्य पर निवेश शुरू करते हैं तो आशंका रहती है कि आपके निवेश पर फायदे की बजाय घाटा मिले क्योंकि बाजार में गिरावट रहती है।

इसलिए सस्ते मूल्य पर निवेश करें।

=>
LIVE TV