जातीय टिप्पणियों को लेकर आहत हो चुकी मेडिकल की छात्रा ने की सुसाइड, सीनियर डॉक्टर्स पर आरोप !…

मुंबई में बीवाईएल नायर नाम का एक अस्पताल है. 22 मई को इस अस्पताल में एमडी की सेकेंड ईयर की स्टूडेंट ने खुदकुशी कर ली. मृतका का नाम पायल तडवी है. 26 साल की पायल महाराष्ट्र के जलगांव की रहने वाली थी. वो अस्पताल में रेजिडेंट डॉक्टर थी.

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, महाराष्ट्र असोसिएशन ऑफ रेजिडेंट डॉक्टर्स (एमएआरडी) के एक प्रतिनिधि ने बताया कि 22 मई को पायल ने तीन सर्जरी की थीं. उस टाइम पायल टेंशन में भी नहीं दिख रही थी. इसके बाद वो अपने कमरे में गई. और अपने स्कार्फ को पंखे से बांधकर फांसी लगा ली.

पायल के परिवारावलों का आरोप है कि अस्पताल के ही तीन सीनियर डॉक्टर्स उसे टॉर्चर करते थे.

पायल आदिवासी समुदाय से थी. और उसने रिजर्वेशन कोटा से एडमिशन लिया था. पायल की मां का आरोप है कि सीनियर डॉक्टर उसे जाति और रिजर्वेशन कोटे से एडमिशन को लेकर कॉमेंट करते थे.

बिना रेस्ट दिए उससे घंटों काम कराया जाता था. सीनियर डॉक्टर उसे ऑपरेशन थियेटर में काम नहीं करने देते थे. उसका शोषण किया जा रहा था. पायल के परिवार ने पुलिस को वॉट्सएप ग्रुप का चैट भी दिखाया है, जिसमें आरोपी डॉक्टर उसपर जातीय टिप्पणी कर रहे हैं.

 

नरगिस और सुनील दत्त : एक अमर प्रेम कथा !

 

पुलिस ने बताया कि पायल ने दो महीने पहले नायर अस्पताल के एचओडी को लिखित शिकायत भी दी थी. लेकिन बाद में पति के कहने पर उसने शिकायत वापिस ले ली. पायल का पति भी मुंबई में डॉक्टर है.

तीनों आरोपी डॉक्टर फरार हैं. पुलिस ने उनके खिलाफ आत्महत्या के लिए उकसाने, एंटी रैगिंग एक्ट और अनुसूचित जाति/जनजाति(अत्याचार निवारण) एक्ट के तहत मामला दर्ज कर लिया है और उनकी तलाश की जा रही है.

 

=>
LIVE TV