जनपद में अपराध का पर्याय बन चुके चार शातिर गुंडे अब किए जाएंगे जिला बदर

जनपद में अपराध का पर्याय बन चुके चार शातिर गुंडे अब जिला बदर किए जाएंगे। इन अपराधियों ने लोगों को परेशान कर रखा है। वहीं पुलिस की नाक में भी दम कर रखा है। अक्‍सर इनकी शिकायत पुलिस के पास आती है। अब इन चारों गुंडों की रिपोर्ट पुलिस ने जिलाधिकारी को भेज दी है। इसके बाद आगे की कार्रवाई की जाएगी।

ये हैं चार अपराधी, जिन पर पुलिस करेगी कार्रवाई

पुलिस के मुताबिक, घूरपुर थाना क्षेत्र के गौहनिया का मनोज कुमार, कंजासा का गुलबदन निषाद, बीकर रगांव का आनंद निषाद और कर्मा निवासी शाहिद शातिर अपराधी हैं। इनके खिलाफ घूरपुर समेत कई अन्य थानों में आपराधिक मुकदमे दर्ज हैं। गुंडों का खौफ इतना ज्यादा है कि इलाके के लोग उनके खिलाफ पुलिस में शिकायत करने से भी डरते हैं। छानबीन के दौरान पता चला कि इन अपराधियों का कनेक्शन आसपास के जिले के कई शातिर बदमाशों से भी हैं। जिनकी मदद से लूट, छिनैती, हत्या का प्रयास जैसे अन्य अपराध करते हैं। अपराधियों पर शिकंजा कसने के लिए घूरपुर पुलिस ने सभी के विरुद्ध गुंडा एक्ट के तहत मुकदमा दर्ज किया। इसके बाद रिपोर्ट बनाकर एसएसपी को भेज दी। एसएसपी ने सभी गुंडों को जिला बदर करने के लिए जिलाधिकारी को संस्तुति करते रिपोर्ट भेजी है।

कई थानों में दर्ज है मुकदमा

वहीं, झूंसी पुलिस ने शातिर अपराधी राम नरेश यादव का गैंग रजिस्टर्ड किया है। रामनरेश थरवई का रहने वाला है और गैंग का लीडर है। उसके गिरोह में हिमांशु यादव निवासी थरवई व होलागढ़ का शमशेर बिंद और सोरांव का नीलमणि यादव उर्फ ननका शामिल हैं। यह सभी एक गिरोह बनाकर लूट, हत्या जैसी अन्य वारदात को अंजाम देते हैं। साथ ही अपराध के जरिए संपत्ति अर्जित करते हैं। पुलिस का कहना है कि इनके खिलाफ भी झूंसी व गंगापार  के कई अन्य थानों में मुकदमा दर्ज है।

बोले, एसपी क्राइम

एसपी क्राइम आशुतोष मिश्रा ने बताया कि आपराधिक इतिहास वाले बदमाशों के खिलाफ भी गैंगस्टर और गुंडा एक्ट के तहत कार्रवाई चल रही है। कई और भी अपराधी हैं जिनके बारे में जानकारी जुटाकर कार्रवाई की जाएगी।

=>
LIVE TV