घाघरा नदी खतरे के निशान को पार करके 50 सेमी. ऊपर, लोगों की बढ़ी परेशानियाँ

घाघरा नदी खतरे के निशान को पार करके 50 सेमी. ऊपर बह रही है। जिसके चलते नदी के तटवर्ती गांवों में रह रहे लोगों की परेशानी बढ़ रही है। एडीएम राकेश सिंह का कहना है कि नदी का जलस्तर बढ़ रहा है, प्रशासन की पूरी नजर है।

परसपुर : नदी के बढ़ते जलस्तर से तटवर्ती गांव सोनौली मोहम्मदपुर की नई बस्ती में पानी घुस गया है। लोग भिखारीपुर सकरौर तटबंध पर शरण ले रहे हैं। चंदापुर किटौली गांव की अनुसूचित बस्ती भी पानी से घिर गई है। ग्रामीण स्पर नंबर एक पर शरण ले रहे हैं। सकरौर तटबंध के स्पर नंबर आठ व नौ में नदी की कटान को रोकने के लिए मिट्टी व ईंट भरी बोरियों को डाला जा रहा है। अवर अभियंता अरविद मिश्र ने कहा कि तटबंध व स्पर पूरी तरह से सुरक्षित है।

उमरीबेगमगंज : ऐलीपरसौली में लकड़हन पुरवा में तीन लोगों का घर नदी में कट गया। जबकि छह अन्य का घर नदी के मुहाने पर है। इन लोगों ने अपनी गृहस्थी समेटना शुरू कर दिया है। इस मजरे में रहने वाले करीब 25 परिवार बाढ़ की चपेट में आ गए हैं। फिलहाल यहां बचाव कार्य जारी है।

भंभुआ : एल्गिन-चरसड़ी तटबंध के उस पार बसे ग्राम नकहरा व माझा रायपुर के लोग परिवार के साथ तटबंध पर शरण ले रहे हैं। अब बाढ़ का पानी नकहरा गांव को निशाना बनाने लगा है। एसडीएम ज्ञानचंद गुप्ता ने बताया कि बाढ़ से निपटने की पूरी तैयारी कर ली गई है।

इनसेट

रविवार शाम तक नदियों का जलस्तर

नदी खतरे का निशान जलस्तर

घाघरा 106.07 106.576

सरयू 92.73 92.750 नदी में डिस्चार्ज पानी-288720 क्यूसेक।

नोट : यह आंकड़े शाम चार बजे तक के हैं, जलस्तर मीटर में है।

=>
LIVE TV