गोरखपुर एम्स में अब कोरोना वायरस मरीजों का होगा इलाज, सीएम योगी आदित्यनाथ ने दिया यह निर्देश

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने रविवार को एम्स की ओपीडी का निरीक्षण किया। कुल 7 मिनट के निरीक्षण के दौरान उन्होंने डायरेक्टर को निर्देश दिया कि यहां कोविड-19 का इलाज के लिए अस्‍पताल बनाया जाए। डायरेक्टर ने बताया कि कार्यदाई संस्था ने 30 जुलाई तक अस्पताल बना कर देने का वादा किया है। इसके बाद 15 दिन से 1 माह के अंदर हम कोरोना मरीजों के लिए अस्पताल तैयार कर देंगे। पहले 50 बेड का अस्पताल तैयार किया जाएगा। इसके बाद 50 बेड और बढ़ाए जाएंगे। पहले लेवल वन अस्पताल बनाया जाएगा जिसमें बिना लक्षण वाले मरीजों को भर्ती किया जाएगा। दूसरे चरण में लेबल टू अस्पताल बनेगा जिसमें लक्षण वाले मरीज भर्ती होंगे।

बाढ़ का हवाई सर्वेक्षण कर मुख्यमंत्री ने किया रेलवे अस्पताल और एम्स का निरीक्षण 

इसके पूर्व मुख्यमंत्री योगी गोरखनाथ मंदिर स्थित अपने आवास में रात्रि विश्राम के बाद रविवार की सुबह 10 बजे नियमित दिनचर्या के बाद मंदिर से निकले। निकलने के बाद सबसे पहले उन्होंने सहजनवां क्षेत्र में बाढ़ का हवाई सर्वेक्षण किया। इस दौरान उन्होंने हेलीकाॅप्टर से ही फर्टिलाइजर के निर्माण कार्य और जंगल कौड़िया फोरलेन निर्माण की प्रगति भी देखी। 

निरीक्षण के बाद उनका हेलीकाॅप्टर सर्किट हाउस परिसर में उतरा। जहां से वह पहले रेलवे अस्पताल और फिर एम्स का निरीक्षण करने गए। मुख्यमंत्री एक बार फिर सर्किट हाउस पहुंच गए हैं। यहां बाढ़ से बचाव की तैयारियों को लेकर अधिकारियों के साथ बैठक प्रस्‍तावित थी लेकिन अंतिम समय में यह बैठक निरस्‍त हो गई और सीएम बलिया के लिए रवाना हो गए।

=>
LIVE TV