गुरूवार , जुलाई 19 2018

गूगल ने आईफोन के जीमेल एप के लिए फिशिंगरोधी तंत्र उतारा

सैन फ्रांसिस्को| गूगल ने आईफोन यूजर्स के लिए, उनके जीमेल एप के लिए एक फिशिंगरोधी तंत्र लांच किया है, जो किसी संदेहास्पद लिंक पर क्लिक करने पर संभावित फिशिंग हमले की चेतावनी देगा। गूगल ने कहा कि नए फीचर को सभी यूजर्स तक पहुंचने में करीब दो हफ्ते लगेंगे।

गूगल ने अपने बयान में कहा कि अगर आप ऐसे किसी लिंक पर क्लिक करते हैं, जिसे गूगल संदेहास्पद समझता है तो वह आपसे पूछेगा, “क्या आप सचमुच इस लिंक को खोलना चाहते हैं?”

कंपनी ने अपने एंड्रायड एप में इस फीचर को मई में ही जोड़ दिया था और अब यह आईफोन यूजर्स के लिए लाया गया है।

गूगल अपनी मशीन लर्निग विशेषज्ञता का प्रयोग कर संदेहास्पद ईमेल की पहचान करता है।

यह भी पढ़ें: अगले साल से साथ हो सकते हैं लोकसभा और विधानसभा चुनाव !

फोर्ब्स की रिपोर्ट बताया गया है, “गूगल अपने फिशिंग डिटेक्शन अलगोरिद्म के जरिए फिशिंग की संभावना वाले ईमेल की पहचान कर लेता है।”

गूगल का दावा है कि जीमेल पर आने-जाने वाले 50 से 70 फीसदी ईमेल स्पैम होते हैं तथा उसकी मशीन लर्निग डिटेक्शन प्रणाली इसमें से 99.9 फीसदी ईमेल की पहचान करने में सक्षम है।

फिशिंग ईमेल उन ईमेल्स को कहते हैं, जो यूजर्स की जरूरी जानकारियां जैसे नाम, पता, फोन नंबर, क्रेडिट कार्ड का नंबर आदि चुरा लेती है और बाद में उनका दुरुपयोग किया जाता है।

मानव सूचना सुरक्षा जागरूकता और तैयारी समाधान मुहैया करानेवाली प्रमुख कंपनी ह्यूमनफायरवॉल डॉट आईओ के निदेशक अंकुश जौहर ने बताया, “साइबर सुरक्षा में फिशिंग एक बड़ा खतरा है। अब 60 फीसदी से ज्यादा ईमेल मोबाइल पर खोले जाते हैं और गूगल के इस कदम से बड़े पैमाने पर धोखाधड़ी से बचाव होगा।”

=>
LIVE TV