खाद्दान्न के लिए पूर्ति विभाग द्वारा राशन कार्ड प्रारूप वितरण

राष्ट्रीय खाद्य सुरक्षा योजना अंतर्गत मिलने वाले खाद्दान्न के लिए पूर्ति विभाग द्वारा राशन कार्ड प्रारूप वितरण का कार्य सुचारू रूप से चल रहा है।
योजना के किर्यान्वयन हेतु पूर्ति विभाग ही नहीं बल्कि नगर पालिका परिषद् के कर्मचारी पूर्ण निष्ठा से लगे है और कर्मचारी अपात्रो को दर्शा रहे हैं जिससे खाद्दान्न की कालाबाज़ारी पर अंकुश लग सके लेकिन यह बात कोटेदारों को अखर रही है वह विभागीय सांठ गांठ कर अपात्रो के राशन कार्ड बनबा कर खाद्दान्न ठिकाने लगाने की जुगत में हैं।
सूत्र बताते हैं की मोहल्ला चौक में कोटेदार महमूद हसन की दुकान पर अधिकांश धनाढ्य लोगो के राशन कार्ड लगे थे जो कि कभी खाद्दान्न नहीं लेते थे।
शासन द्वारा राष्ट्रीय खाद्य सुरक्षा योजना लागू करने से उक्त कोटेदार के अधिकांश राशन कार्ड उपभोक्ता अपात्र होने के कारण कम हो गए जिससे उक्त कोटेदार महमूद हसन की अबैध मोटी कमाई का जरिया समाप्त होता नज़र आ रहा है जिससे बोखला कर उक्त कोटेदार ने पालिका कर्मचारियों पर रिश्वत लेकर राशन कार्ड बनाने के अनर्गल आरोप मढ़ना शुरू कर दिए हैं जब कोटेदार द्वारा पालिका कार्यालय में लगाये जा रहे आरोपो के सम्बन्ध में दैनिक आज के पूरनपुर तहसील प्रभारी ने जानकारी चाही तो वो आग बाबूला हो गया और पत्रकार से अभद्रता करते हुए कहने लगा के एक तो उक्त राष्ट्रीय खाद्य सुरक्षा योजना लागू होने से उसे कालाबाज़ारी करने में परेशानी हो रही ऊपर से पत्रकारो ने परेशान कर रखा है।
उक्त कोटेदार ऐलानिया कहता घूम रहा है के वो अब भी ब्लैक करेगा उसका कोई कुछ नहीं कर सकता क्यों के वह पूर्ति निरीक्षक को नहीं बल्कि हमेशा से डीएसओ को महीना देता है उसका इसीलिए आज तक उसका बाल बांका नहीं हुआ।
कोटेदार द्वारा ऐसे कृत्य किया जाना और जिम्मेदार अधिकारी पर ऐसे आरोप मढ़ना प्रशाशन पर सीधा हमला है। अब देखना यह है की ऐसे कोटेदार पर विभाग कार्यवाही कर उसपर नकेल कसता है या फिर ऐसे ही खुली छूट प्रदान कर शासन की मंशा को विफल करने की कोशिश कर राशन उपभोक्ताओं का माल ठिकाने लगता रहता है।

=>
LIVE TV